DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

टिकारी में गहराया बिजली संकट, परेशानी

टिकारी एक संवाददाता। अनुमंडल मुख्यालय में बिजली की कमी से उपभोक्ताओं को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। बिजली सप्लाई में कटौती का सबसे बुरा असर व्यवसायियों और छात्र-छात्राओं पर हो रहा है। टिकारी में बीते कई महीने से बिजली संकट जारी है। महज तीन मेगावाट बिजली मिलने के कारण रोटेशन पर की जा रही बिजली सप्लाई इसका सबसे बड़ा कारण है।

प्रखंड के टाउन, मऊ, केसपा और पंचानपुर फीडर को रोटेशन पर बिजली सप्लाई की जा रही है। शिफ्ट वाइज बिजली सप्लाई से उपभोक्ता काफी परेशान हैं। शाम के समय खासकर छह से आठ बजे तक बिजली की सप्लाई पूरी तरह ठप रहती है। इसका प्रभाव दुकानों में कनेक्शन लिये व्यवसायियों के व्यवसाय पर पड़ रहा है। विभागीय सूत्रों के अनुसार टिकारी के सभी फीडरों को एक साथ बिजली सप्लाई करने के लिए कम से कम दस मेगावाट बिजली की जरुरत है।

लेकिन राजस्व की कमी के कारण फिलहाल इतनी बिजली नहीं दी जा रही है। यहां की केसपा, महमन्ना, पुरा और दिघौरा पंचायत से बिल का कलेक्शन काफी कम है। सूत्रों की माने तो राजस्व कलेक्शन में बढ़ोतरी होने पर सप्लाई भी बढ़ायी जाएगी। विद्युत अवर प्रमंडल टिकारी असिस्टेंट इंजीनियर अजय कुमार ने बताया कि अनुमंडल के लगभग तमाम इलाकों में अपेक्षा के अनुसार राजस्व की प्राप्ति नहीं हो रही है। खासकर कोंच प्रखंड की हालत काफी खराब है। कोंच से बिजली बिल वसूली के लिए विशेष अभियान चलाये जाने की बात एई ने कहा।

बहरहाल, बिजली की कमी से जुझ रहे लोगों ने विभाग और सरकार से टिकारी को करीब 20 घंटा बिजली सप्लाई कराने की मांग की है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:टिकारी में गहराया बिजली संकट, परेशानी