DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बैट्री खराब होने से बेकार पड़े सोलर लाइट

चरपोखरी। एक संवाददाता। पंचायत मद से प्रखण्ड के गांवों में लगायी गयी सोलर लाइट की बैट्री खराब हो जाने से शाम होते ही गांवों की गलियों में अंधेरा फैल जा रहा है। इससे बिजली से वंचित गांवों को जगमग करने की सरकार की महत्वाकांक्षी योजना को पूरी तरह से ग्रहण लग गया है।

वहीं बैट्री खराब हो जाने के बाद गांवों में लगायी गयी सोलर लाइट लोगों के लिए महज शोभा की वस्तु बन कर रह गयी हैं। जानकारी के अनुसार बिजली से वंचित गांवों को जगमग करने के लिए सरकार ने वर्ष 2008 में सोलर लाइट लगाने की योजना शुरू की थी।

इसके तहत बीआरजीएफ योजना के माध्यम से पंचायत द्वारा गांवों में सोलर लाइट लगाने का प्रावधान किया गया है। सरकार की इस महत्वाकांक्षी योजना के तहत प्रखण्ड के सभी गांवों में बड़े पैमाने पर सोलर लाइट लगा दी गयी।

कुछ दिन के बाद ही सोलर लाइट की बैट्री खराब होने लगी और गांव की गलियों में अंधेरा फैलने का काम शुरू हो गया। इस योजना के तहत गांवों में हर साल नये सोलर तो लगाये जाते रहे, लेकिन पुराने सोलरों की बैट्री की मरम्मत और बदलने का काम नहीं किया जा सका।

इस स्थिति में करोड़ो रुपये की लागत से गांवों में लगायी गयी सोलर लाइट आज बेकार पड़ी हुई है। इस संबंध में पंचायत सचिवों का कहना है कि बैट्री बदलने के लिए राशि की व्यवस्था नहीं की गई है।

सचिवों की माने तो इस मामले में प्रशासन के निर्देश पर ही कोई पहल की जा सकती है। वहीं इस बावत पूछे जाने पर बीडीओ प्रमोद कुमार मिश्र ने बताया कि अगर मुखिया चाहें तो चतुर्थ वित्त के मद से बैट्री बदल सकते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बैट्री खराब होने से बेकार पड़े सोलर लाइट