DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खुलेंगे 51 स्कूल, स्थापना में नहीं चलेगी मनमानी

मुजफ्फरपुर। कार्यालय संवाददाता। नये स्कूलों की स्थापना में मुखियों और ग्रामीणों की मनमानी नहीं चलेगी। जिले में खोले जा रहे नए 51 प्राथिमक विद्यालयों के लिए शिक्षा विभाग ने सभी बीईओ को चयन प्रक्रिया में सख्ती बरतने का आदेश दिया है। बुधवार को बीईपी (बिहार शिक्षा परियोजना) कार्यालय में सभी बीईओ की विशेष बैठक बुलाई गई जिंसमें नए विद्यालय खोलने के साथ ही बच्चों की संख्या में फर्जीवाड़ा रोकने की रणनीति बनाई गई।

डीईओ मुस्तफा हुसैन मंसूरी ने सभी बीईओ को हर हाल में नए विद्यालय के लिए स्थल चयन में पारदिर्शता बरतने का आदेश दिया। उन्होंने इसे पंचायत की कार्यकारिणी से पास कराने का निर्देश दिया है। इसके साथ ही विद्यालय शिक्षा सिमित के गठन के लिए भी सभी बीईओ को विशेष दिशा-निर्देश दिया गया।

समिति का गठन किस तरह किया जाएगा, इसके लिएजिंला स्तर पर 11 जनवरी को एक कार्यशाला का आयोजन किया गया है। डीईओ ने कहा कि सरकारी और प्राइवेट स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों की सही संख्या की जानकारी विभाग के पास नहीं है।

इसके कारण बच्चों की संख्या में फर्जीवाड़ा हो रहा है। बड़ी संख्या में बच्चों का नामांकन सरकारी स्कूल और प्राइवेट स्कूल दोनों में एक साथ है। इस पर रोक लगाने के लिए सरकारी और प्राइवेट, सभी स्कूलों को यू डायस फॉर्म भर कर देना है।

इससे बच्चों की सही संख्या और स्कूल में उपलब्ध सभी सुविधाओं की सही जानकारी मिलेगी। डीपीओ सर्व शिक्षा अभियान जियाउल होदा ने कहा कि तीन दर्जन विद्यालय ऐसे हैं जहां छात्रवृत्ति वितरण का मौका दोबारा बच्चों को मिलेगा।

15-20 जनवरी के बीच यहां राशि वितिरत की जाएगी। बैठक में मुरौल, मुशहरी के कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय के निर्माण में आ रही समस्या पर जवाब मांगा गया। इसके साथ ही गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के लिए सभी बीईओ को विशेष िदशा-निर्देश दिया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:खुलेंगे 51 स्कूल, स्थापना में नहीं चलेगी मनमानी