DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वीसी, प्रो-वीसी, रजिस्ट्रार समेत 13 पर मुकदमा

मुजफ्फरपुर। हिन्दुस्तान प्रतिनिधि। अल्पसंख्यक व कमजोर वर्ग के छात्रों की शिक्षा के लिए स्थापित कांटी स्थित इस्लामिया डिग्री कॉलेज को सामान्य कॉलेज बनाने व नियुक्ति के नाम पर लाखों रुपये का फर्जीवाड़ा करने के आरोप में मिल्लत तालिमी सोसायटी के सचवि मो. सैफुद्दीन ने विशेष नगिरानी कोर्ट में केस दर्ज कराया है।

केस में उन्होंने बीआरए बिहार विवि के कुलपति डॉ. रवि वर्मा, प्रति कुलपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद मिश्र, रजिस्ट्रार डॉ. विवेकानंद शुक्ला, पूर्व रजिस्ट्रार अखिलेश प्रसाद, पूर्व कॉलेज इंस्पेक्टर (कला) डॉ. एचके राय, कॉलेज के पूर्व प्रभारी प्राचार्य मो. अहमदुल्लाह खान, सदर थाना क्षेत्र के भगवानपुर निवासी डॉ. सैयद अली मुर्तुजा, जफर इमाम, कांटी निवासी वासुदेव भगत, मो. सईद आजाद, मुशहरी निवासी दयानंद प्रसाद, मोतीपुर के हरौनी निवासी नंदू भगत व रामनाथ प्रसाद को नामजद किया है। सचवि ने आरोप लगाया कि सोसायटी की ओर से उक्त कॉलेज का संचालन होता है।

सोसायटी की 6.2 एकड़ जमीन पर कॉलेज है। लेकिन आरोपियों ने साजशि के तहत कॉलेज को सामान्य कॉलेज बनाने के लिए डॉ. राय को दो लाख रुपये घूस देकर गलत रिपोर्ट बनवायी और राज्यपाल के नाम से जाली लीजनामा तैयार करवाया। इस बाबत नगर थाना में एफआईआर दर्ज करायी गयी। इसके बाद लाखों रुपये घूस लेकर कॉलेज में व्याख्याता व कर्मचारियों की नियुक्ति की गई। इनमें 56 व्याख्याता, 51 लिपिक व 41 आदेशपाल शामिल हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:वीसी, प्रो-वीसी, रजिस्ट्रार समेत 13 पर मुकदमा