DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दहेज के लिए पत्नी को मारकर गंगा में फेंका

अकबरनगर। संवाददाता। अकबरनगर के छींट श्रीरामपुर कोठी गांव में दहेज के लिये ससुराल वालों ने नाथनगर की नववविाहिता मुन्नी की हत्या कर शव को गंगा में फेंक दिया। पुलिस ने बुधवार को गंगा से मुन्नी का शव बरामद कर लिया है। मुन्नी की मां ने अकबरनगर थाना में 30 दसिंबर को ही घटना की प्राथमिकी दर्ज करायी थी। जिसमें समधी जीवन लाल साह, दामाद श्रीकांत कुमार, अरूण कुमार, लुखनी देवी, बालेश्वर शर्मा आदि पर बेटी की हत्या कर शव गायब करने का आरोप लगाया था।

दोनों रशि्ते में ममेरे-फुफेरे भाई-बहन थे। हत्या की घटना को 29 दसिंबर को अंजाम दिया गया था। घटना के बाद से ही मुन्नी के ससुराल वाले फरार हैं। एएसपी ने भी मुन्नी की हत्या गलादबा कर किये जाने की आशंका जातायी। मुन्नी की हत्या कर उसे बहिपुर थाना के जगनचक मोजा स्थिति बड़ी नदी के धार में फेंका गया था। शाहबाद निवासी किसान बसंत मंडल बुधवार को जब जगनचक स्थिति अपने बासा पर गए तो जानकारी मिली कि नदी में लाश पड़ी है।

उन्होंने इसकी जानकारी पुलिस को दी। पुलिस ने वहां पहुंच महिला के शव को नदी ने निकलवाया। शव मिलने की सूचना एएसपी को दी गयी। कुछ देर बाद एएसपी भी घटना स्थल पर पहुंचे और मामले की जांच की। पुलिस के अनुसार लड़की के कमर में जूट के बोरे में बालू भरकर बांधा गया था उसके बाद उसे नदी में फेंका गया था। दो दिन पूर्व पुलिस ने घटना स्थल से दो किलोमीटर दूर नदी से एक खाट बरामद किया था।

देर शाम शव को पोस्टमार्टम के लिये भागलपुर भेज दिया गया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही हत्या कैसे हुई इसका खुलासा हो पाएगा। मुन्नी की मां ने बताया कि बेटी की शादी के कुछ दिन बाद से ही दहेज के लिये दबाव शुरू हो गया था। इसको लेकर दोनों परिवार के बीच तनाव भी चल रहा था। दहेज में दो लाख रुपया और एक मोटरसाइकिल की मांग की गयी थी। देने पर असमर्थता जताने पर खुद दामाद श्रीकांत ने बेटी को जान से मारने की धमकी दी थी।

मुन्नी की मां ने अकबरनगर थाना में दिये आवेदन में कहा है कि उसकी बेटी की शादी 15 नवंबर 13 को अकबरनगर के श्रीकांत कुमार के साथ हुई थी। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दहेज के लिए पत्नी को मारकर गंगा में फेंका