DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कोल घोटाले में फंसे भाजपा नेता

सीबीआई ने वर्ष 1993—2005 के दौरान कोयला खानों के आवंटन में कथित अनियमितताओं के संबंध में बुधवार को दो नई प्राथमिकी दर्ज कीं। इनमें से एक में भाजपा नेता अनूप अग्रवाल और उनकी कंपनी का नाम भी है। इस तरह से करोड़ों रुपये के इस घोटाले में पहली बार विपक्षी पार्टी के किसी सदस्य के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

अनूप अग्रवाल राज्यसभा के पूर्व सदस्य पीके अग्रवाल के बेटे हैं। वे भाजपा की झारखंड राज्य कार्य समिति में स्थायी आमंत्रित और पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी में विशेष आमंत्रित हैं। इस बारे में जब अग्रवाल और संबंद्ध कंपनियों से ईमेल या फोन से संपर्क किया गया तो कोई जवाब नहीं मिला। 

मिलीभगत से मुनाफा: सीबीआई सूत्रों का कहना है कि जांच में यह बात भी सामने आई कि बीएलए इंडस्ट्रीज ने लंबे समय तक बिजली संयंत्र नहीं लगाए और दोनों कोल ब्लॉक से कोयले निकालकर खुले बाजार में बेचाना शुरू कर दिया। इस तरह कंपनी ने करोड़ों का मुनाफा कमाया। कोयला बेचने के लिए कंपनी ने कोयला मंत्रालय के अधिकारियों से सांठगांठ कर अनुमति भी ले ली थी।

नौ जगह छापेमारी: सीबीआई ने कोल घोटाले में दिल्ली, मुंबई, भोपाल, धनबाद, कोलकात्ता सहित देशभर में नौ जगह छापेमारी की।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कोल घोटाले में फंसे भाजपा नेता