DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सदर तहसील में वकीलों ने लेखपाल को पीटा

लखनऊ। वरिष्ठ संवाददाता

सदर तहसील में बुधवार की शाम वकीलों ने लेखपाल की खूब पीटा। लेखपाल कुलदीप यादव ने सरकारी जमीन की खतौनी की नकल मांग रहे वकील केके यादव को मना कर दिया। नियमत: सरकारी जमीन की खतौनी की नकल बगैर डीएम, एडीएम या एसडीएम की मंजूरी के नहीं दी जा सकती। वकील व उसके साथियों को लेखपाल का इनकार नागवार लगा और उन्होंने उसे खतौनी के लिए बने काउंटर से बाहर खींचकर पीटना शुरू कर दिया।

उसके शोर मचाने पर अन्य लेखपाल मदद को पहुंचे। वकीलों ने खतौनी काउंटर पर भी तोड़फोड़ की। लेखपाल संघ के अध्यक्ष सुशील शुक्ल ने एडीएम-प्रशासन देवेन्द्र पाण्डे से तत्काल मदद करने की अपील की। इसके बाद ही एसडीएम समेत अन्य अधिकारी पुलिस बल को लेकर वहां पहुंचे। वकीलों की पिटाई से लेखपाल का सिर फूट गया और हाथ का अंगूठा भी टूट गया। बमुश्किल लेखपाल उसे बचाकर दूसरे कमरे में छिपा सके। पुलिस के आने तक तहसील के अन्य कर्मचारी कामकाज छोड़कर अपने घरों को भाग गए।

लेखपाल संघ के तहसील अध्यक्ष संजय त्रिपाठी समेत अन्य ने वजीरगंज कोतवाली में प्रदर्शन किया। कुलदीप ने अपने ऊपर जानलेवा प्रदर्शन करने के लिए वकील केके यादव व उसके अन्य साथियों के खिलाफ नामजद एफआईआर दर्ज करा दी। डीएम अनुराग यादव ने असंतुष्ट लेखपालों को मना लेने का भरोसा दिलाया है। उपराष्ट्रपति के दौरे का बहिष्कार करेंगे लेखपालउपराष्ट्रपति हामिद अली अंसारी के गुरुवार को राजधानी आगमन के दौरान लेखपालों ने काम करने से मना कर दिया है। संघ के अध्यक्ष सुशील शुक्ल ने बताया कि वे किसी भी वीवीआईपी डय़ूटी को तब तक नहीं करेंगे जब तक उनके साथी को पीटने वाले वकीलों की गिरफ्तारी नहीं होगी।

उन्होंने बताया लेखपाल गुरुवार को अपना विरोध दर्ज करने के लिए कलेक्ट्रेट, रजिस्ट्री व तहसील का कामकाज ठप कराएंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सदर तहसील में वकीलों ने लेखपाल को पीटा