DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आयुर्वेदिक शिक्षकों को भी मिले डीएसीपी

देहरादून। राज्य के आयुर्वेदिक चिकित्सकों ने डीएसीपी का लाभ दिए जाने की मांग की है। प्रांतीय कार्यकारिणी की बैठक में चिकित्सकों की समस्याओं पर विचार किया गया। नेहरू कालोनी स्थित एक होटल में आयोजित बैठक में राजकीय आयुर्वेदिक एवं यूनानी चिकित्सा सेवा संघ अध्यक्ष डा. सुशील चौकियाल ने कहा कि आयुर्वेदिक चिकित्सक प्रदेश के सुदूरवर्ती स्थानों पर सेवाएं दे रहे हैं। वक्ताओं ने डीएसीपी लाभ, पंचकर्म और क्षारसूत्र चिकित्सक पद सृजित करने, आयुर्वेदिक कालेजों में एमडी सीटे आरक्षित करने, आयुर्वेदिक औषधि बजट बढ़ाने जैसी मांगे उठाई।

बाद में चिकित्सकों ने स्वास्थ्य मंत्री सुरेंद्र सिंह नेगी से मिलकर अपनी बात रखी। इस अवसर पर संघ महासचवि डा. नरेंद्र सिंह रावत, डा. केएस असवाल, डा. जेएल नौटियाल, डा. पीएस कैन्तुरा, डा. आशुतोष पंत, डा. विजय राणा, डा. कुसुम उनियाल, डा. नरेश शर्मा, डा. केएल नपलचयाल, डा. महेंद्र गुंजाल, डा. शशि भूषण, डा. विनोद चौहान उपस्थित रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आयुर्वेदिक शिक्षकों को भी मिले डीएसीपी