DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मास्टर प्लान के खिलाफ जनजागरूकता अभियान

देहरादून, वरिष्ठ संवाददाता

मास्टर प्लान की वसिंगतियों से पर्यावरण को पहुंचने वाले नुकसान के खिलाफ अभियान का ऐलान कर दिया गया है। भाजपा पंचायत प्रकोष्ठ ने 23 जनवरी को सुभाष चंद्र बोस की जयंती को संकल्प दिवस के रूप में मनाने का फैसला लिया। पंचायत प्रकोष्ठ के प्रदेश प्रभारी दिगंबर नेगी ने त्यागी रोड स्थित एक होटल में कहा कि मास्टर प्लान में शहर की जरूरतों पर बिल्कुल भी ध्यान नहीं दिया गया।

जो मास्टर प्लान वर्ष 2001 में तैयार हो जाना चाहिए था, वह वर्ष 2013 में जारी किया गया। इन 13 सालों में शहर की सूरत पूरी तरह बिगड़ चुकी थी। सरकार ने संशोधन के नाम पर अपरिभाषित क्षेत्र के नाम पर लीपापोती की। प्लान में बस्तियों को दिखाया ही नहीं गया। आपदा प्रबंधन, ड्रेनेज सिस्टम को लेकर कोई योजना ही तैयार नहीं की गई। बिल्डरों को ध्यान में रखकर प्लान तैयार किया गया। जहां मंदिर हैं, वहां होटल दिखाया जा रहा है।

उन्होंने दो माह में जनसुनवाई कर प्लान की वसिंगतियों को दूर किए जाने पर जोर दिया। कहा कि प्लान की इस अव्यवस्थाओं के खिलाफ ग्रीन दून, क्लीन दून अभियान चलाया जाएगा। अभियान में सभी मंदिर, गुरुद्वारों, मस्जिदों, चर्चो, शैक्षणिक संस्थाओं, ग्राम पंचायतों समेत नगर निगम के सभी वार्डो में अभियान चलाया जाएगा। ं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मास्टर प्लान के खिलाफ जनजागरूकता अभियान