DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्राइवेट स्कूलों पर कस सकता है शिंकजा

 ऋषिकेश। हमारे संवाददाता

चुनिंदा दुकानों से ही किताबें व यूनिफार्म खरीदने के लिए प्राइवेट स्कूलों द्वारा अभिभावकों को बाध्य किए जाने पर कार्रवाही हो सकती है। वहीं, बसों में ओवरलोडिंग और सर्दियों में सुबह 7 बजे स्कूल खोलने पर भी रोक लग सकती है। बुधवार को एसडीएम ने प्राइवेट विद्यालयों के प्रबंधन के साथ बैठक की।

बहुजन समाज पार्टी का प्राइवेट स्कूलों के खिलाफ आंदोलन का असर दिखने लगा है। बुधवार को उपजिलाधिकारी संतोष कुमार पाण्डेय ने प्राइवेट विद्यालयों के प्रबंधन के साथ बैठक की। एसडीएम ने माना कि प्राइवेट स्कूल प्रबंधन द्वारा अभिभावकों को चुनिंदा दुकानों से ही यूनिफार्म व किताबें खरीदने के लिए बाध्य करना गलत है। जबकि, बसों में ओवरलोडिंग,सर्दियों में भी विद्यालय सुबह 7 बजे संचालित करना,आरटीई के मानकों की अनदेखी करना और तीन माह की फीस एक साथ लेने को एसडीएम ने नियम के विरुद्ध बताया।

उन्होंने कहा कि इसकी रिपोर्ट जिलाधिकारी व जिलाशिक्षाधिकारी को भेजी जाएगी। बैठक में बसपा के जोनल को-ऑर्डिनेटर रविकुमार जैन, विधानसभा को-आर्डिनेटर ललन राजभर सहित प्राइवेट विद्यालयों के प्रबंधक उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:प्राइवेट स्कूलों पर कस सकता है शिंकजा