DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विस्थापितों ने ठप कराया बिरसा पश्चिम खान का काम

उरीमारी। निप्र। बिरसा परियोजना की आउटसोर्सिंग से चल रही पश्चिम खुली खदान को रैयत विस्थापितों ने मांगों को लेकर 6 घंटे तक ठप करा दिया। उनकी मांग थी कि रैयतों को बकाया नौकरी, मुआवजा और पुनर्वास देने के साथ-साथ ग्रामीणों को बिजली, सड़क और चिकित्सा की सुविधा प्रबंधन प्रदान करे। इसके अलावा लोगों को गुस्सा इस बात को लेकर भी था कि खाता संख्या 10 का नौकरी और मुआवजा प्रबंधन ने नहीं दिया है पर वहां पर ओबी डालने का काम शुरू कर दिया था।

काम को ठप कराते हुए रैयतों ने प्रबंधन से सभी मांगों को पूरा करने की मांग की गई। दोपहर बारह बजे के बाद प्रबंधन के साथ वार्ता के पश्चात आंदोलन को समाप्त कर दिया गया। वार्ता में रैयतों को आश्वासन दिया गया कि उनकी मांगों को प्रबंधन जल्द पूरा करने की दिशा में ठोस कदम उठाएगा।

वार्ता में पीओ जीसी शाहा, मुखिया प्रतिनिधि धर्मदेव करमाली, वशि्वनाथ मांझी आदि शामिल थे। वहीं बिंदेश्वर मुंडा के नेतृत्वमें आंदोलन के दौरान कामेश्वर मुंडा, बंधू गंझू, बंधन मुंडा, चंद्रदेव मुंडा, पप्पु मुंडा, सत्येंद्र मुंडा, योगेश्वर मुंडा, युगेश मुंडा, अजय गंझू, मंगरा गंझू के अलावा कई लोग शामिल थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विस्थापितों ने ठप कराया बिरसा पश्चिम खान का काम