DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

करोड़ो पकड़ाया, अब निलंबन की बारी

पटना। हिन्दुस्तान ब्यूरो। भ्रष्टाचार की काली कमाई के पकड़े जाने के बाद अब खनिज विकास पदाधिकारी झकारी राम और माइनिंग इस्पेक्टर वीरेन्द्र प्रसाद पर निलंबन की गाज गिरनेवाली है। दोनों अधिकारियों के काले कारनामें से विभाग को अवगत कराया जाएगा। ईओयू बुधवार को खान एवं भूतत्व विभाग को पत्र लिखकर कार्रवाई का ब्योरा सौंपेगा। आय से अधिक संपत्ति के मामले में आर्थिक अपराध इकाई ने शेखपुरा के खनिज विकास पदाधिकारी झकारी राम और गोपालगंज के माइनिंग इस्पेक्टर वीरेन्द्र प्रसाद यादव के ठिकानों पर छापेमारी की थी।

तलाशी में झकारी राम के यहां से 1.64 करोड़ नगद समेत करोड़ो की चल-अचल संपत्ति के कागजात मिले। वहीं वीरेन्द्र प्रसाद के घर से 3 लाख नगद और जमीन-मकान के ढेरो दस्तावेज हाथ लगे थे। दोनों अधिकारियों के खिलाफ आय से काफी अधिक संपत्ति अर्जित करने का मामला पाया गया है। संपत्ति का आकलन करने में जुटी ईओयू अधिकारियों के काले कारनामे से उनके विभाग को अवगत कराने के लिए पत्र भेजेगा। ईओयू के अधिकारी ने बताया कि पत्र तैयार है।

बुधवार को उसे खान एवं भूतत्व विभाग को भेज दिया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:करोड़ो पकड़ाया, अब निलंबन की बारी