DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिहार मूल के अफसरों को अपमानित कर रही सरकार: मोदी

पटना। हिन्दुस्तान ब्यूरो। पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने आरोप लगाया है कि सरकार बिहार मूल के अफसरों को अपमानित कर रही है। राज्य के डीजीपी ने सीआरपीएफ के डीजी को 19 नवम्बर 2013 को पत्र लिखा।

इसमें कहा गया कि सीआरपीएफ के बिहार मूल के अफसरों को खास कर नक्सल विरोधी अभियान के लिए बिहार में तैनात नहीं किया जाए। यह बिहार मूल के अफसरों की कार्यक्षमता और निष्ठा पर सवाल उठाता है। देश में बिहार मूल के अफसरों की पहचान अच्छी मानी जाती है।

उन्होंने मांग की कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार तुरंत इस पत्र को वापस लें। नरसंहार मामले में उच्च न्यायालय से आरोपितों के बरी होने पर उन्होंने बताया कि गठबंधन सरकार के दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को सुझाव दिया था कि ऐसे संवेदनशील मामलों की मॉनिटरिंग के लिए एक सेल गठित हो।

ऐसे मामलों में बरी हुए लोग यदि निदरेष हैं तो दोषी कौन है? उन्होंने पुलिस जांच और कार्रवाई पर भी सवाल उठाया। विभिन्न राज्यों में मुख्यमंत्रियों द्वारा अपनी सुरक्षा कम किए जाने पर उन्होंने कहा कि जिसे जितनी सुरक्षा की जरूरत हो, उसे उतनी मिलनी चाहिए।

कई जगह भाजपा नेताओं को नक्सलियों द्वारा हत्या की धमकी देने से संबंधित पोस्टर चिपकाने पर कहा कि बिहार पुलिस के किसी पदाधिकारी ने उनसे इस सबंध में कोई पूछताछ या सुरक्षा की समीक्षा नहीं की है। जो सुरक्षा व्यवस्था पहले थी, वही आज भी है।

उन्होंने कहा कि जनता दरबार जैसे कार्यक्रम की उपयोगिता है। जनता की समस्याएं सुनना और लोकतांत्रिक तरीके से उसके समाधान के लिए आवाज उठाना विपक्ष का दायित्व है। उन्होंने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री से बिहार मूल की युवती से कोलकाता में बलात्कार और हत्या मामले की जांच सीबीआई से कराने की अपील की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बिहार मूल के अफसरों को अपमानित कर रही सरकार: मोदी