DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिहार संयुक्त प्रवेश परीक्षा परिणाम की हो सीबीआई जांच

बिहार संयुक्त प्रवेश प्रतियोगिता परीक्षा के द्वितीय चरण के परिणाम में भीषण धांधली की सीबीआई की जांच की मांग की है। एसएफआई, एआईएसएफ, एडसो, छात्र राजद, एआईडीवाईओ और डीवाईएफआई ने संयुक्त मोर्चा तैयार करते हुए इस मामले को लेकर जोरदार प्रदर्शन करने का निर्णय लिया है। साथ ही संयुक्त मोर्चा ने सरकार से विश्वविद्यालय कर्मचारियों की हड़ताल के कारण बिगड़ते शैक्षणिक माहौल को भी बेहतर बनाने की मांग की है। शुक्रवार को इन मांगों को लेकर छात्र व युवा संगठन प्रतिरोध मार्च निकालेंगे।ड्ढr ड्ढr एआईएसएफ राज्य कार्यालय में डीवाईएफआई के राज्य सचिव उमेश प्रसाद की अध्यक्षता में हुई बैठक में कहा कि राज्य के सुशासन बाबू की सरकार छात्र-युवाओं के जनवादी अधिकारों पर हमला कर रही है। वहीं शिक्षा में सुधार के नाम पर माफियाओं के हाथों में सूबे की शिक्षा को सौंप दिया गया है। बैठक में एआईएसएफ के राज्य सचिव मदन मोहन मुरारी व विश्वजीत कुमार, एसएफआई के राज्य महासचिव मनोज कुमार सुनील व अध्यक्ष नरश कुमार, आईसा के राज्य सहसचिव मरकडेय पाठक व राहुल विकास, एडसो के राज्य सचिव सूर्यकर जितेंद्र, एआईडीवाईओ के भारत, छात्र राजद के प्रधान महासचिव अवधेश कुमार लालू और डीवाईएफआई के राज्य उपाध्यक्ष जगदीश प्रसाद ने कहा कि बीसीईसीई के रिाल्ट में जबरदस्त धांधली हुई है। बिहार के मेधावी छात्रों के भविष्य के साथ यह खिलवाड़ है। जुलाई से छात्रों का सेशन शुरू होनेवाला है लेकिन वर्षो से विश्वविद्यालय कर्मचारियों के जायज मांगों को सरकार सुन नहीं रही है।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बिहार संयुक्त प्रवेश परीक्षा परिणाम की हो सीबीआई जांच