DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एस्सेल के लिए मीटर रीडिंग व बिल वितरण बड़ी चुनौती

मुजफ्फरपुर। वरीय संवाददाता। एस्सेल कंपनी के लिए मीटर रीडिंग के साथ ही उपभोक्ताओं तक बिजली बिल पहुंचाना बड़ी चुनौती है। बिल वितरण व्यवस्था को सुदृढ़ करने के लिए एस्सेल के उच्चाधिकारियों ने मंगलवार की देर शाम तक विचार-विमर्श किया। डीएम के हस्तक्षेप के बाद मंगलवार से औसत तीन सौ यूनिट के बिजली बिल में सुधार को लेकर अभियान शुरू कर दिया गया है।

एस्सेल सूत्रों के मुताबि, वैसे तमाम उपभोक्ताओं के बिल में युद्धस्तर पर सुधार करने की प्रक्रिया शुरू की गयी है, जिनको औसत तीन सौ यूनिट का बिल जारी किया गया है। रीडिंग में गड़बड़ी के भी सैकड़ो मामले हैं। इन तमाम गड़बडिम्यों को ठीक करने के लिए मंगलवार से एसकेएमसीएच, भगवानपुर, माड़ीपुर, कल्याणी, सरैयागंज व रामदयालुनगर सब डिविजन में कार्य शुरू किया गया। उपभोक्ताओं को अपनी वास्तविक मीटर रीडिंग बताने के साथ पूर्व की भी मीटर रीडिंग बतानी होगी। ताकि अगले माह का बिल सही मिले।

इसके लिए मीटर रीडिंग का अभियान शुरू किया गया है। आधिकारिक सूत्रों का कहना है कि एस्सेल कंपनी के लिए सबसे बड़ी चुनौती मीटर रीडिंग ही है। देहाती क्षेत्र में बड़ी संख्या में वैसे उपभोक्ता हैं, जिनके यहां हाल में मीटर लगा है। इन तमाम उपभोक्ताओं की मीटर रीडिंग करके बिल जारी करना होगा।

सुधार के लिए उठाने होंगे ये कदम ::: - बिलिंग सिस्टम दुरुस्त करने के लिए आईटी सेक्शन को करना होगा मजबूत - टैरिफ की पूरी जानकारी रखने वालों को बिलिंग की देनी होगी जिम्मेदारी- उपभोक्ताओं के घर-घर बिल पहुंचाने की लेनी होगी जवाबदेही - मीटर रीडिंग के आधार पर जारी करना होगा बिल - मीटर रीडिंग से जुड़े कर्मचारियों के काम-काज पर रखनी होगी पैनी नजर।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एस्सेल के लिए मीटर रीडिंग व बिल वितरण बड़ी चुनौती