DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डीपीई का रिजल्ट नहीं निकलने से नियोजित शिक्षक मायूस

भागलपुर। कार्यालय संवाददाता। शिक्षा विभाग ने डीपीई कोर्स किए हुए नियोजित शिक्षकों को एनसीटीई से मान्यता मिलने संबंधी पत्र जारी किया है। इस कोर्स को करने के बाद शिक्षक प्रशिक्षित की श्रेणी में आ जाएंगे। उन्हें प्रशिक्षित का मानदेय दिया जाएगा। लेकिन इसका लाभ जिले में 710 शिक्षकों नहीं मिल पाएगा। क्योंकि कोर्स के बाद जो परीक्षा ली गई थी उसका रिजल्ट नहीं घोषित किया गया है।

ये सभी शिक्षक सत्र 2007-09 के हैं। शिक्षक संघ ने इस पर आपत्ति जाहिर की है। बिहार पंचायत नगर प्रारंभिक शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष पूरण कुमार ने कहा कि बिहार में 34 हजार शिक्षक संवर्धन कोर्स करने के बावजूद प्रशिक्षित की श्रेणी में आने से वंचित हैं। इनका कोर्स 2011 में ही पूरा हो चुका है। लेकिन परीक्षाफल आज तक नहीं निकाला गया है। यदि रिजल्ट प्रकाशित कर दिया गया होता तो उसके नियत वेतन में प्रशिक्षित का एक हजार रुपए और दक्षता परीक्षा उत्तीर्ण करने का 170 रुपए लाभ हर महीने मिलता।

एनसीटीई से मान्यता मिलने का पत्र 16 दिसंबर को भेजा गया है। लेकिन रिजल्ट के अभाव में शिक्षक खुद को ठगा हुआ महसूस कर रहे हैं। नियोजित शिक्षकों के लिए दो वर्षीय डीपीई कोर्स के बाद छह महीने का संवर्धन कोर्स करने की बात कही गई है। ऐसा करने वाले शिक्षक प्रशिक्षित कहे जाएंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:डीपीई का रिजल्ट नहीं निकलने से नियोजित शिक्षक मायूस