DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एचओ कोटा हड़पने पर डीआरएम का होगा घेराव

भागलपुर। कार्यालय संवाददाता। एचओ कोटा से मिलने वाले बर्थ में धांधली और इसके आवंटन की व्यवस्था भागलपुर से मालदा ले जाने से नाराज यहां के विभिन्न राजनीतिक-सामाजिक संगठनों ने आंदोलन की चेतावनी दी है। भाजपा व राजद समेत कई संगठनों से जुड़े नेताओं ने आरोप लगाया है कि रेलवे सोची-समझी साजशि के तहत भागलपुर में रेल सुविधाओं की अनदेखी कर रहा है और इसमें दलालों के साथ-साथ मालदा में जमे अफसरों की भी मिलीभागत है।

नेताओं ने कहा कि रेलवे की इस उपेक्षा के खिलाफ वे डीआरएम का घेराव करेंगे। नेताओं ने आरोप लगाया कि बिहार की रेल सेवाओं पर पश्चिम बंगाल का आधिपत्य खत्म नहीं हो रहा है। विभाग से जुड़े चुनिंदा अफसर भी अपने स्वार्थो के लिए इसे बरकरार रखना चाहते है। रेल मंत्रालय द्वारा भागलपुर में रेलमंडल कार्यालय घोषित किए जाने के बाद जब यहां के लोग जल्द से जल्द इस व्यवस्था को लागू करने की मांग कर रहे हैं। ऐसे में मालदा मंडल में जमे अधिकारिओं द्वारा भागलपुर को मिलनेवाली अन्य सुविधाओं का अपने हितों के लिए उपयोग करना साजशि की तरफ इशारा कर रहा है।

अफसरों ने पहले रेल मंडल कार्यालय के लिए नियुक्त ओएसडी को हटाया और फिर एचओ कोटा से मिलनेवाले बर्थ के आवंटन को भागलपुर से हटाकर मालदा शिफ्ट कर दिया। आमदनी के मामले में भागलपुर मालदा रेल मंडल का सबसे कमाऊ स्टेशन है। लेकिन इसके लिए भागलपुर रेल एरिया के अधिकारियों को महज एक तगमा देकर संतुष्ट कर दिया जाता है। नियमानुसार अधिक आमदनी देने वाले स्टेशनों पर यात्री सुविधा सहित अन्य व्यवस्थाओं को भी रेलवे पुख्ता रखता है ताकि वहां के यात्रियों को किसी प्रकार की दिक्कत न हो लेकिन मालदा रेलमंडल के अधिकारी ऐसा नहीं होने देते।

मालदा रेल मंडल में सबसे अधिक यात्रियों का आवागमन होने के बाद भी भागलपुर में करेंट रिजर्वेशन बुकिंग की व्यवस्था नहीं है जबकि मालदा में भागलपुर की अपेक्षा कम यात्री होते हुए भी वहां पूरे संसाधन हैं। मंगलवार को भागलपुर के कई संगठनों ने भागलपुर से खुलने वाली ट्रेनों का एचओ कोटा मालदा में रखने के खिलाफ धरना प्रदर्शन की चेतावनी दी है। भाजपा व्यावसायिक मंच के प्रदेश मंत्री लालु शर्मा, राजद जिलाध्यक्ष डा. चक्रपाणि हिमांशु, भाजपा महानगर अध्यक्ष विजय कुमार साह सहित अन्य संगठन के नेताओं ने कहा है कि मालदा रेलमंडल के वरीय अधिकारी भागलपुर से खुलने वाली ट्रेनों का एचओ कोटा अगर भागलपुर शिफ्ट नहीं करेंगे तो इसके लिए आंदोलन होगा।

विभिन्न दलों के नेताओं ने कहा है कि नए डीआरएम के भागलपुर दौरा पर उनके सामने एचओ कोटा में बड़े पैमाने पर हो रही धांधली को रखा जाएगा। उन्हें यह बताया जाएगा कि किस तरह से मालदा में बैठे अधिकारियों और दलालों के बीच सांठगांठ चल रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एचओ कोटा हड़पने पर डीआरएम का होगा घेराव