DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सीबीआई की हिरासत में आया टुंडा

नई दिल्ली प्रमुख संवाददाता

बम मशीन अब्दुल करीम टुंडा आखिरकार सीबीआई की हिरासत में आ ही गया। तहिाड़ जेल में बंद टुंडा वर्ष 1993 में बाबरी मस्जिद की बरसी पर दिल्ली, राजस्थान और यूपी में राजधानी एक्सप्रेस सहित पांच ट्रेन में हुए बम ब्लास्ट की वारदातों में शामिल था। अब 13 जनवरी तक सीबीआई (मुख्यालय) स्पेशल टॉस्क फोर्स के अधिकारी टुंडा से लगातार पूछताछ कर ट्रेन ब्लास्ट की कुछ ऐसी साजशिें, जो अब तक राज बनी रही हैं, उनके बारे में जानकारी हासिल करने का प्रयास करेंगे।

सूत्रों का कहना है कि गत 17 दिसम्बर 2013 को सीबीआई दिल्ली यूनिट एसटीएफ अधिकारियों ने अजमेर की टाडा अदालत में टुंडा को हिरासत में लेकर पूछताछ करने संबंधी दाचिका दायर की थी। सात जनवरी 2014 को अदालत ने सीबीआई की याचिका को स्वीकार कर सात दिन के लिए अब्दुल करीम टुंडा को हिरासत में सौंप दिया। सीबीआई का कहना है कि राजधानी एक्सप्रेस,फ्लाईंग क्वीन एक्सप्रेस,आंध्र प्रदेश एक्सप्रेस तथा नई दिल्ली से हावड़ा तथा हावड़ा से दिल्ली जा रही एक्सप्रेस में पांच तथा छह दिसम्बर 1993 की रात को पांच ब्लास्ट हुए थे।

ब्लास्ट की इन घटनाओं में करीब दो सौ यात्री मारे गए थे और एक सौ से अधिक घायल हुए थे। अलग-अलग मामले दर्ज होने के बाद भारत सरकार ने सभी मामलों की जांच के आदेश केंद्रीय जांच ब्यूरो से कराने के आदेश दिए गए थे। राजस्थान अजमेर की विशेष टाडा अदालत ने 28 फरवरी 2004 को इस मामले 15 आरोपियों को उम्रकैद की सजा सुनाई थी। अब्दुल करीम टुंडा ट्रेन ब्लास्ट के इन मामलों में फरार चल रहा था। इंडो-नेपाल सीमा से टुंडा को 16 अगस्त 2013 को स्पेशल सेल ने गिरफ्तार किया था।

इन दिनों वह तहिाड़ जेल नंबर आठ में बंद था। सूत्रों का कहना है कि सीबीआई बम ब्लास्ट में शामिल रहे टुंडा के साथी जलीस अंसारी और हामिद के साथ रची गई साजशि के बारे में कई अहम जाानकारियां हासिल करना चाहेगी। हामिद लम्बे समय तक सउदी जद्दा में रहा था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सीबीआई की हिरासत में आया टुंडा