DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पपसरा में बाघ की दहशत बरकरार

इस्लामनगर। हिन्दुस्तान संवाद

पपसरा गांव में बाघ की दहशत अभी भी बरकरार है। वहीं दो दिन से इस जानवर ने किसी पर हमला नहीं किया है। ऐसे में गांव वाले यह कयास लगा रहे हैं कि बाघ गांव का जंगल छोड़ किसी अन्य इलाके में चला गया है।

फिर भी एहतियात के तौर पर ग्रामीण घरों से अकेले निकलने में कतरा रहे हैं। इन हालात में गांव के लोग शाम के वक्त समूह बनाकर घर से निकलते हैं। इलाके के गांव पपसरा में शनिवार की रात एक जानवर घुस आया था। गांव वाले इसे बाघ करार दे रहे थे। गांव वालों की बात को उस वक्त बल मिला, जब वहां के जंगल में गांव में घूमने वाले पांच कुत्तों के अवशेष पड़े मिले। वन विभाग की टीम ने मौका मुआयना किया और इस जानवर को सियार का बड़ा रूप हायना करार दिया।

इसके बाद न तो कोई टीम यहां पहुंची और न ही विभाग की ओर से इस जानवर को पकड़ने का कोई प्रयास किया गया। नतीजतन इस खूंखार जानवर ने रविवार रात एक किशोरी पर घर में घुसकर हमला बोल दिया। इससे ग्रामीणों में जहां वन विभाग के प्रति रोष व्याप्त हो गया, वहीं बच्चों और पशुओं की चिंता सताने लगी, इसलिए गांव वालों ने रविवार की रात पहरा देकर गुजारी। इसके बाद सोमवार की रात भी गांव वालों ने जागकर काटी।

हालांकि दो दिन में कोई हमला न होने से गांव वाले जानवर के कहीं और भागने की आशंका जता रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पपसरा में बाघ की दहशत बरकरार