DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

और कितने शेर है भाई

मुरादाबाद। कार्यालय संवाददाता

कांठ के अकबरपुर चैदरी में भले ही टाइगर ने एक किशोरी को अपना शिकार बना लिया हो लेकिन जिले के अलग अलग हिस्सों से टाइगर के होने की खबरें सामने आ रही हैं। कहीं बकरी तो कहीं नील गाय पर हमला करने की बात सामने आयी। दिन भर हर सूचना पर वन विभाग की टीम घूमती रही लेकिन सभी सूचनाएं पुरानी होने की वजह से बैरंग लौट गयी। पिछले नौ दिन से आतंक का पर्याय बने टाइगर के हमले की घटनाओं से दहले मुरादाबाद में अफवाहों का बाजार गर्म रहा।

चंगेरी में किसान पर हमला करने के बाद से मंगलवार को अकबरपुर चेदरी में किशोरी पर हमला करने के बीच कई जगह से हमले की सूचनाएं आईं। पाकबड़ा के रतनपुर कलां में बकरी पर हमला करने की बात सामने आई जबकि महलकपुर में नीलगाय के बच्चोंं पर हमला करने की बात कही गयी। इसके अलावा यूसुफपुर नगलिया, मेवापुर और मौढ़ातैय्या में लोगों ने टाइगर व टाइगर के पंजे के निशान देखने का दावा किया। हर सूचना पर वन विभाग की टीमें अलग अलग स्थानों पर दौड़ती रही।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:और कितने शेर है भाई