DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ठगी के शिकार हो रहे हैं मोबाइल उपभोक्ता

अलीगढ़। ग्राहक जब दुकान से मोबाइल खरीदते हैं तो सारी जानकारियां दी जाती हैं। इतना ही नहीं उनसे कहा जाता है यदि आपके मोबाइल में कोई खराबी आती है तो शहर में ही केयर सेंटर द्वारा सही कराया जाएगा। मोबाइल की हर परेशानी सेंटर पर ही सही होगी। एक साल तक कोई जार्च नहीं लगेगा। लेकिन हकीकत कुछ अलग ही है।

सेंटर प्वाइंट चौराहे स्थिति नोकिया केयर पर ग्राहकों को ठगा जा रहा है। मंगलवार को सुबह से शाम तक दर्जनों ग्राहकों की परेशानी दूर न होने पर उन्हे लौटना पड़ा। केयर सेंटर में पुराने मोबाइल खरीदने और बेचने का धंधा चला रखा है। मंगलवार को जवां क्षेत्र के गांव पिपलौठ निवासी जीतू सिंह ने बताया कि दो महीने पहले नोकिया का नया मोबाइल लिया था। उस समय दुकानदार ने कहा था यदि कोई खराबी आती है तो केयर सेंटर पर सही हो जाएगी।

एक सप्ताह पहले मोबाइल खराब हुआ था। केयर सेंटर आया करीब तीन घंटे बैठने के बाद पूछा गया क्या परेशानी है। सोमवार तक मोबाइल सही करने के लिए कहा गया। सोमवार को केयर सेंटर आया तो कहा अभी मोबाइल सही नहीं हुआ है। मंगलवार को फिर बुलाया। कई घंटें के बाद मोबाइल मिला, जिसके के लिए 250 रुपये लिए गए। जबकि मोबाइल गारंटी में चल रहा था। नौरंगाबाद क्षेत्र निवासी कपिल ने बताया कि बीते चार दिन से रोज केयर सेंटर के चक्कर लगा रहा हूं।

मोबाइल सही नहीं हुआ है। दो माह पहले मोबाइल खरीदा था। केयर सेंटर पर बैठे कर्मचारी सही जवाब नहीं देते हैं। दिनभर आराम से बैठे एक दूसरे से गप्पे मारते रहते हैं। इसी प्रकार मंगलवार को दर्जनभर से अधिक मोबाइल उपभोक्ता परेशान होकर लौटे। पुराने मोबाइल का होता है धंधासेंटर प्वाइंट केयर सेंटर पर तैनात कर्मचारी ग्राहकों की परेशानी को दूर करना तो भूल गए है। वह दिनभर पुराने मोबाइल बेचने और खरीदने का धंधा चलाते हैं। सूत्रों के अनुसार यहां पर चोरी किए गए मोबाइलों को कम दाम देखकर खरीद लिया जाता है।

उन्ही मोबाइलों में नए सॉफ्टवेयर लोड कर उन्हे ग्राहकों को बेच दिया जाता है। सही मोबाइल में भी कमीमसूदाबाद निवासी आरके सिंह ने बताया कि नोकिया केयर सेंटर पर दो मोबाइल लेकर गया। एक सही था और एक खराब। दोनों मोबाइलों को कर्मचारी को दिखाया और कहा दोनों में इंटरनेट नहीं चल रहा है। हाथ में पकड़ते ही बिना देखे मैड़ा ने जवाब दिया कि सॉफ्टवेयर खराब है, लोड करना पड़ेगा। जिसके लिए 250 रुपये प्रति मोबाइल खर्चा होगा। इसी प्रकार दिनभर उपभोक्ताओं को ठगा जाता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ठगी के शिकार हो रहे हैं मोबाइल उपभोक्ता