DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रियंका मैदान में उतरीं बड़े फेरबदल की तैयारी

चार राज्यों के विधानसभा चुनाव में जबरदस्त हार और दिल्ली में आम आदमी पार्टी की जीत के बाद कांग्रेस नए सिरे से चुनावी रणनीति तैयार करने में जुट गई है। इसके लिए कांग्रेस नेता प्रियंका वाड्रा गांधी भी मैदान में उतर गईं हैं। पार्टी ने भी संगठन और सरकार में बड़े बदलाव के संकेत दिए हैं।

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के घर पर मंगलवार को हुई एक अहम बैठक में पार्टी के थिंक टैंक कहे जाने वाले सभी नेताओं के साथ प्रियंका गांधी ने बैठक की। इस दौरान पार्टी के चुनाव प्रचार की रणनीति, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के चुनाव कार्यक्रम, रायबरेली-अमेठी में सरकारी योजनाओं की स्थिति, महंगाई और भ्रष्टाचार समेत कई मुद्दों पर चर्चा हुई।

हालांकि बैठक के बाद पार्टी महासचिव जनार्दन द्विवेदी ने कहा कि प्रियंका गांधी रायबरेली और अमेठी में चुनाव प्रचार का काम देखती रही है। वह कुछ विषयों पर पार्टी नेताओं से बात करती हैं, इसमें कुछ नया नहीं है। पहले भी वह ऐसी बैठक कर चुकी हैं।

बहरहाल, पार्टी ने 17 जनवरी को एआईसीसी की बैठक बुलाई है। इसमें देशभर के सभी जिलाध्यक्षों को भी बुलाया गया है। इस दौरान राहुल गांधी को पीएम उम्मीदवार घोषित किया जाना तय माना जा रहा है। पार्टी के एक वरिष्ठ नेता के मुताबिक, एआईसीसी बैठक के बाद प्रवक्ताओं व मीडिया टीम में भी बदलाव किया जाएगा। वहीं, एआईसीसी में बदलाव भी तय माना जा रहा है। इसके लिए कुछ मंत्री सरकार से इस्तीफा दे सकते हैं।

इसलिए है बड़ी भूमिका की उम्मीद
- करीब एक दशक से बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता और वरिष्ठ नेता प्रियंका गांधी से सक्रिय राजनीति में आने का अनुरोध करते रहे हैं।
- प्रियंका एक अच्छी वक्ता हैं। वह जब भी मीडिया में किसी विषय पर बोलती हैं, बेहद संयमित और सधी हुई भाषा का इस्तेमाल करती हैं।
- कई बार उन्होंने अपने बयानों से पार्टी पर कटाक्ष करने वाले बड़े-बड़े नेताओं को चुप कराया है।
- प्रियंका की संगठन पर भी अच्छी पकड़ है। कई बार वह एक कुशल रणनीतिकार होने का सबूत दे चुकी हैं।
- सूत्रों की मानें तो अगर राहुल को पीएम उम्मीदवार घोषित किया जाता है तो प्रियंका गांधी उनके चुनाव प्रचार की कमान संभालेंगी। वह अमेठी और रायबरेली में भी कांग्रेस के लिए प्रचार करती रही हैं।

चुनाव कैंपेन के लिए 500 करोड़ का ठेका
लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस ने जापान की एडवरटाइजिंग और पीआर कंपनी देंत्सु इंडिया को प्रचार का काम सौंपा है। इसके लिए कंपनी को 500 करोड़ रुपये का ठेका दिया गया है। दूसरी तरफ सोशल मीडिया पर राहुल गांधी की मौजूदगी मजबूत करने के लिए बुर्सन मार्सटेल कंपनी से करार हुआ है।    

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:प्रियंका मैदान में उतरीं बड़े फेरबदल की तैयारी