DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लश्कर ने दंगा पीड़ितों से नहीं किया था संपर्क

मुजफ्फरनगर के दंगा पीड़ितों से आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा ने संपर्क नहीं किया था। इस बात की जानकारी गृह मंत्रालय और दिल्ली पुलिस ने मंगलवार को दी। हालांकि दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल के स्पेशल सीपी एस.एन श्रीवास्तव ने यह बताया कि लश्कर के दो संदिग्ध आतंकी मुजफ्फरनगर के लोगों के संपर्क में थे।

इन दोनों आतंकियों को दिल्ली पुलिस ने हाल में हरियाणा के मेवात से गिरफ्तार किया था। उन्होंने बताया कि जिन लोगों से आतंकियों ने संपर्क किया था वे दंगा पीड़ित नहीं थे। स्पेशल सीपी ने बताया कि लश्कर के आतंकी मोहम्मद शाहिद व मोहम्मद राशिद से पूछताछ में यह खुलासा हुआ था कि वे लश्कर के कमांडर जावेद बलूची के इशारे पर नए रंगरूटों को संगठन से जोड़ने की फिराक में थे।

वे मस्जिद का निर्माण करना चाहते थे। इसके लिए उन्होंने मुजफ्फरनगर के दो बाशिंदों लियाकत और जमीर से मुलाकात की थी। इस खुलासे के बाद पुलिस ने इन दोनों बाशिंदों का बयान आईपीसी की धारा-161 व 164 के तहत दर्ज कराया हैं। पुलिस दोनों को गवाह बनाने की तैयारी में है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:लश्कर ने दंगा पीड़ितों से नहीं किया था संपर्क