DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

22 कारण: क्यों एक्सपी के बजाए इस्तेमाल करें विंडो-8

22 कारण: क्यों एक्सपी के बजाए इस्तेमाल करें विंडो-8

माइक्रोसॉफ्ट एक्सपी विंडोज हमेशा से यूजर्स की मनपसंद रही है। हाल ही में कंपनी की नई पेशकश माइक्रोसॉफ्ट-8 को पेश किया, लेकिन कुछ खामियों के चलते उसे यूजर्स ने पसंद नहीं किया। माइक्रोसॉफ्ट ने अपनी गलती मानते हुए जल्द ही विंडोज 8.1 पेश किया और इसे जनवरी 2014 में अपडेट करने का वादा किया। माइक्रोसॉफ्ट ने अपने यूजर्स को लुभाने के लिए अब एक कैंपेन शुरू किया है जिसमें वह यूजर्स को बता रही है कि वे एक्सपी से विंडोज-8 पर क्यों जाएं। इसके लिए कंपनी ने 22 कारण बताए हैं।

1. अप्रैल 8, 2014 से माइक्रोसॉफ्ट विंडोज एक्सपी को सपोर्ट नहीं करेगी। साथ ही सिक्यॉरिटी और टेक्निकल कंटेंट अपडेट भी नहीं होगी।
2. हैकिंग और साइबर थ्रेट को देखते हुए विंडोज 8.1 पर स्विच कर जाने से यूजर्स को ज्यादा सुरक्षित वेब अनुभव मिलेगा।
3. एक्सपी में हैकर आसानी से सॉफ्टवेयर डालकर घुस जाते हैं, लेकिन नई विंडोज इस तरह बनाई गई हैं कि हैकर्स ऐसा कुछ भी नहीं कर पाएंगे।
4. विंडोज 8 यूजर्स की तुलना में एक्सपी यूजर को छह गुना ज्यादा वाइरस से खतरा होता है।
5. विंडोज 8 में सिक्योरिटी इनोवेशन कुछ इस तरह से किया गया है कि यह सिक्योरिटी के अपडेट ऑटोमैटिकली भेजता रहता है।
6. आधुनिक ऑपरेटिंग सिस्टम को देखते हुए साइबर अपराधियों के लिए विंडोज 8 अधिक कॉम्प्लेक्स और महंगा है।
7. एक्सपी का टेक्निकल सपोर्ट बहुत पुराना हो चुका है। इससे इसके एक्सेल व वर्ड पर काम स्लो होता है।
8. आईडीसी इंडिया के अनुसार विंडोज 8 में आधुनिक टेक्नोलॉजी को अपग्रेड करना बहुत सस्ता पड़ता है।
9. विंडोज एक्सपी आरबीआई यूआईडी के नियम के मुताबिक बायोमैट्रिक डिवाइसेज को सपोर्ट नहीं करेगा।
10. आधुनिक ओएस विंडोज 8.1 से न सिर्फ सुरक्षा का संबंध बढ़ा है, वहीं क्लाउड जैसे नए फीचर्स भी जोड़े हैं।
11. अप्रैल 8, 2014 से विंडोज एक्सपी का ‘जीरो डे’ शुरू हो जाएगा और यह कभी ठीक नहीं हो सकेगा।
12. आईडीसी के अनुसार अगर लोग नए वजर्न पर माइग्रेट नहीं करेंगे तो उनके डाटा पर खतरा पड़ सकता है।
13. सिक्योरिटी के लिहाज से छोटी कंपनियों को लगभग 63 लाख रुपये का घाटा हो सकता है।
14. विंडोज के लेटेस्ट वजर्न से लोग ज्यादा प्रोडक्टिव और कनेक्टेड रह सकते हैं।
15. अनसपोर्टेड सॉफ्टवेयर विंडोज एक्सपी में काम करने पर बैंकों को पैनल्टी का भुगतान करना पड़ सकता है।
16. कंपनियां एक्सपी से स्विच करने के नियमों का पालन करें वर्ना कई पैनल्टी का शिकार होना पड़ सकता है।
17. 8.1 ऐसी विंडोज है जिससे यूजर को अच्छा अनुभव, डेवलपमेंट प्लेटफॉर्म, मैनेजेबिलिटी, सिक्योरिटी मिलेगी।
18. ऑफिस 365 जैसी नई तकनीक का इस्तेमाल विंडोज 8.1 से मुफ्त में किया जा सकता है।
19. बैंक चार से छह महीने में एक्सपी से विंडोज 8.1 में जा सकते हैं। इससे सुरक्षा के साथ कई फायदे भी मिलेंगे।
20. डाटा प्राइवेसी नियम और कानूनों का विंडोज 8.1 पूरा आदर और ख्याल करता है।
21. यह पहला ओएस है जो हर क्षेत्र की  डिवाइसेज को शक्तिशाली मॉडर्न ओएस मुहैया कराता है।
22. लोग कहीं से भी अपना डाटा, सिक्योरिटी और मैनेजमेंट को एक्सेस कर सकते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:22 कारण: क्यों एक्सपी के बजाए इस्तेमाल करें विंडो-8