DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आईआईटी पटना में पढ़ाई जुलाई से संभव

आईआईटी पटना में इसी सत्र (2008-0से पढ़ाई शुरू करने की तैयारी पूरी होने को है। अगले महीने से पढ़ाई शुरू होने के आसार हैं। केन्द्र सरकार ने सिविल, मैकेनिकल एवं कम्प्यूटर साइंस में 40-40 कुल 120 छात्रों के नामांकन की हरी झंडी दी है। राजधानी स्थित पाटलिपुत्र पोलिटेक्िनक परिसर में अस्थायी रूप से आईआईटी की पढ़ाई की व्यवस्था की गई है। करीब 6 करोड़ रुपए की लागत से 40 हजार वर्ग फीट एरिया में एकेडमिक भवन का निर्माण अंतिम चरण में है। पोलिटेक्िनक के ही दो हॉस्टलों में छात्रों के लिए अस्थायी व्यवस्था की गई है। जुलाई के दूसर सप्ताह तक लैब, वर्कशॉप समेत आवश्यक सभी इंस्ट्रूमेन्ट यहां स्थापित कर दिये जाएंगे। यहां के छात्रों को आईआईटी गुवाहाटी के विशेषज्ञ शिक्षक पढ़ायेंगे। उनके रहने के लिए पोलिटेक्िनक परिसर के आस-पास पाटलिपुत्र, श्रीकृष्णापुरी आदि मुहल्लों में आवास की व्यवस्था की जा रही है।ड्ढr ड्ढr आईआईटी पटना में नामांकन के लिए छात्रों की काउंसिलिंग खत्म हो गई है। हालांकि राज्य सरकार ने सिविल, मैकेनिकल एवं कम्प्यूटर साइंस में 180 छात्रों के नामांकन का प्रस्ताव दिया था पर 120 छात्रों के नामांकन की ही अनुमति मिली है। विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री शाहिद अली खान ने कहा कि आईआईटी की पढ़ाई के लिए राज्य सरकार सभी आवश्यक कार्रवाई कर रही है।अस्थायी पढ़ाई के लिए पॉलिटेक्िनक परिसर में केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय के दिशा -निर्देश में कार्रवाई चल रही है। आधारभूत संरचना राज्य सरकार मुहैया करा रही है जबकि अन्य आवश्यक सुविधाएं मंत्रालय मुहैया करा रहा है। भविष्य में यहां अर्थक्वेक इंजीनियरिंग, फ्लड इंजीनियरिंग,टेलीकम्यूनिकेशन्स इंजीनियरिंग जैसे नए तकनीकी पाठ्यक्रमों की अंतर्राष्ट्रीय स्तर की पढ़ाई एवं शोध की व्यवस्था करने का प्रस्ताव है। वर्तमान में दिल्ली, मुम्बई, चेन्नई, खड़गपुर, कानपुर, गुवाहाटी एवं रुड़की में आईआईटी स्थापित हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आईआईटी पटना में पढ़ाई जुलाई से संभव