DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गुरु गोविन्द सिंह का 347वां प्रकाशोत्सव मनाया गया

सिखों के दसवें और अंतिम गुरु गुरुगोविंद सिंह का 347वां प्रकाश उत्सव आज उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ समेत पूरे राज्य में बडे धूमधाम से मनाया गया।


इस मौके पर प्रमुख गुरुद्वारों में सबद कीर्तन दरबार और गुरु के लंगरका आयोजन किया गया। बडी संख्या में श्रृद्धालुओं ने गुरुद्वारे गये और वहां आयोजित कार्यक्रमों में भाग लिया। इस अवसर पर गुरुद्वारों को सुरुचिपूर्वक ढंग से सजाया गया।
 
गुरु गोविंद सिंह सिखों के दसवें गुरु और खालसा पंथ के संस्थापक थे। उनकी जयंती के मौके पर गुरुद्वारों में कथाओं के माध्यम से उनके  उपदेशों को दोहराया गया और अपने जीवन में अपनाने का संदेश दिया  गया। उन्होंने शांति और आपसी भाईचारे का संदेश दिया जो आज केदौर में प्रासांगिक है। इन आयोजनों के बाद बडी संख्या में लंगर में प्रसाद ग्रहण किया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गुरु गोविन्द सिंह का 347वां प्रकाशोत्सव मनाया गया