DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मेधावी विद्यार्थियों को यूजीसी की मदद

आवेदन की अंतिम तिथि: 16 जनवरी, 2014

अनुसूचित जाति: जनजाति के छात्रों के लिए विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने स्कॉलरशिप की घोषणा कर दी है। आयोग की ओर से इस स्कॉलरशिप के जरिए कोटे के मेधावी छात्रों को आर्थिक मदद दी जाती है, ताकि वे किसी भी भारतीय विश्वविद्यालय, संस्थान व कॉलेज से पोस्ट ग्रेजुएशन के स्तर पर प्रोफेशनल कोर्स कर सकें। 

किन पाठ्यक्रमों के लिए मिलेगी स्कॉलरशिप: इस स्कॉलरशिप में छात्रों को इंजीनियिरग एंड टेक्नोलॉजी, मैनेजमेंट, फॉर्मेसी सरीखे प्रोफेशनल कोर्स के लिए मदद दी जाती है।

अनिवार्य शैक्षणिक योग्यता: आवेदक का ग्रेजुएशन में उस कोर्स में पास होना जरूरी है। स्कॉलरशिप उन्हें ही दी जाती है, जो किसी न किसी विश्वविद्यालय से रेगुलर प्रोफेशनल कोर्स कर रहे हैं।  

आयु सीमा व फैलोशिप की अवधि: दो से तीन साल के लिए मिलने वाली इस स्कॉलरशिप के लिए आवेदक की उम्र 45 साल से अधिक नहीं होनी चाहिए। उम्र का निर्धारण 1 जुलाई, 2014 के आधार पर होगा। महिला आवेदकों के लिए उम्र की सीमा 50 साल है। इसके अलावा भी कुछ विशेष मामलों में आयु के स्तर पर राहत दी जाती है।

स्कॉलरशिप की संख्या व मिलने वाली सहायता: इसके जरिये हर साल एक हजार विद्यार्थियों को उच्च शिक्षा के लिए मदद दी जाती है। एमई और एमटेक पाठ्यक्रम के विद्यार्थियों को पांच हजार रुपये प्रतिमाह और अन्य कोर्सेज के लिए तीन हजार रुपये दिए जाते हैं। इसके अलावा स्कॉलरशिप में आपातनिधि का भी प्रावधान है और इसमें एमई-एमटेक के विद्यार्थियों को एकमुश्त 15 हजार रुपये और अन्य कोर्सेज के विद्यार्थियों को 10 हजार रुपये की मदद दी जाती है।

आवेदन कैसे करें: इस स्कॉलरशिप को पाने के इच्छुक आवेदक को विश्वविद्यालय अनुदान आयोग यूजीसी की वेबसाइट पर उपलब्ध ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया के माध्यम से आवेदन करना होगा। आवेदन के लिए यूजीसी की वेबसाइट पर लॉगइन किया जा सकता है। आवेदन की अंतिम तिथि 16 जनवरी, 2014 निर्धारित है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मेधावी विद्यार्थियों को यूजीसी की मदद