DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

महाराष्ट्र: मुस्लिम उम्मीदवारों पर अनिर्णय की स्थिति में आप

महाराष्ट्र: मुस्लिम उम्मीदवारों पर अनिर्णय की स्थिति में आप

आम आदमी पार्टी (आप) की महाराष्ट्र इकाई 2014 के आम चुनाव के लिए मुस्लिम उम्मीदवारों की संख्या पर अभी  कोई फैसला नहीं कर पाई है।

आप के राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य और समाजिक कार्यकर्ता मयंक गांधी ने सोमवार को कहा कि मुसलमानों को फैसला लेने वाली इकाई में प्रतिनिधित्व दिया जाएगा, लेकिन लोकसभा की उम्मीदवारी सिर्फ योग्यता पर आधारित होगी, जो कम या ज्यादा हो सकती है।

गांधी ने नेशनल मूवमेंट फार सोशल जस्टिस, गुड गवर्नेस एंड एम्पावरमेंट आफ माइनोरोटिज के बैनर तले मुस्लिम संगठनों के समूह द्वारा उचित प्रतिनिधित्व की मांग के जवाब में यह बात कही।

इस समूह ने उत्तर प्रदेश के 26 राजनीतिक पार्टियों के फेडरेशन एकता मंच के अध्यक्ष मौलाना सलमान हुसैनी नदवाई को भी शामिल किया है और आप को लोकसभा चुनाव में समर्थन देने की घोषणा की है।

आप महाराष्ट्र के 48 सीटों पर चुनाव लड़ने का फैसला कर यहां जबर्दस्त पहुंच बनाने की कोशिश कर रही है। इस दौरान वह भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नितिन गडकरी और गोपीनाथ मुंडे, नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी के प्रफुल्ल पटेल और कांग्रेस के सुशील कुमार शिंदे व अन्य के खिलाफ उम्मीदवार खड़े करेगी।

2009 लोकसभा चुनाव में कई सालों में पहली बार महाराष्ट्र से एक भी मुस्लिम सासंद नहीं चुन कर आए थे, जहां 1.5 करोड़ मुस्लिम आबादी है। इसके बाद, कांग्रेस ने राज्यसभा के लिए हुसैन दलवई को नामित किया था और जो इस समुदाय से महाराष्ट्र के एकलौते सांसद हैं।

नदवई ने कहा,''ब्रिटिश शासन के बाद हमने सोचा कि बदलाव होगा, लेकिन कांग्रेस और भाजपा ने हमें नीचा दिखाया है। अब आप नई शक्ति बन कर उभरी है, हमें उम्मीद है कि वे अच्छा काम जारी रखेगी।''

राज्य में आप को जमात-ए-इस्लामी हिंद, एएमयू अलुमिनाई एसोसिएशन आफ महाराष्ट्र, हुसैनी सुन्नी फाउंडेशन, यूनाइटेड मुस्लिम आफ महाराष्ट्र, नवादा फाउंडेशन आफ मुंबई और इमाम फाउंडेशन ने समर्थन दिया है।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:महाराष्ट्र: मुस्लिम उम्मीदवारों पर अनिर्णय की स्थिति में आप