DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अंत्येष्टि में भी शामिल हुआ था ‘मास्टर माइंड’

मुरादाबाद। वरिष्ठ संवाददाता। दीपक की हत्या उसके करीबी ने ही करवाई थी। पुलिस व परिवार की नजरों से बचने के लिए वह दीपक की अंत्येष्टि में भी शामिल हुआ था। कातिलों से उसकी घटना के बाद फोन पर बातचीत भी हुई थी। यह खुलासा संदिग्धों की कॉल डिटेल व पूछताछ के दौरान हुआ।

पुलिस फरार कातिलों की तलाश में जुटी हुई है। पुलिस अफसरों का दावा है कि गुरुवार तक घटना का पर्दाफाश कर दिया जाएगा। छात्र नेता दीपक चौहान की हत्या को पांच दिन बीत चुके हैं। एसएसपी आशुतोष कुमार के नेतृत्व में पुलिस की आधा दर्जन टीमें हर पहलू को रखकर तफ्तीश कर रही हैं। खुफिया विभाग के अफसर भी सुरागरशी के जरिए कातिलों तक पहुंचने की फिराक में हैं। एसपी सिटी महेंद्र यादव के नेतृत्व में रोजाना शक के दायरे में आए लोगों से घंटों सवाल-जवाब किए जा रहे हैं।

अब तक की पड़ताल में करीबी द्वारा ही दीपक की हत्या करवाए जाने की पुष्टि हो चुकी है। शक के दायरे में आए लोगों से पूछताछ व कॉल डिटेल से सोमवार को एक और सनसनीखेज खुलासा हुआ। परिजनों व पुलिस को शक न हो, इसलिए मास्टर माइंड दीपक की अंत्येष्टि में भी शरीक हुआ था। कुछ स्थानों पर धरना-प्रदर्शन में भी दिखाई दिया। पुलिस का शिकंजा कसा तो आला अफसरों से कातिलों को गिरफ्तार करवाने में मदद करने की बात कही।

सूत्रों के मुताबिक पुलिस को कातिलों के बारे में पूरी जानकारी हो चुकी है। सिर्फ गिरफ्तारी शेष है। हत्या के पीछे प्रापर्टी विवाद व चुनावी रंजशि की बात सामने आई है। एसपी सिटी महेंद्र यादव ने बताया कि दीपक की हत्या के पीछे उसके करीबी का हाथ सामने आया है। हत्यारों की गिरफ्तारी की जा रही है। गुरुवार तक घटना का खुलासा कर दिया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अंत्येष्टि में भी शामिल हुआ था ‘मास्टर माइंड’