DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पटना का फिल्मसिटी बन रहा हार्डिग पार्कं

बदल रही है पटना के ऐतिहासिक वीर कुंवर सिंह पार्क की फिजां। अब यहां गजेड़ियों, नशेड़ियों व शराबियों का जमावड़ा नहीं लगता है। सावन माह के दस्तक देते ही यह पार्क ‘कांवर गीत’ बनाने वाले ‘एलबम’ निर्माताओं की पसंदीदा जगह बन गई है। शाम होते ही जिस पार्क में वीरानी छा जाती और सिर्फ बोतलों की खनक या चिलम से निकलते गांजे की महक रहती वहां अब बोलबम का नारे गूंज रहे हैं।ड्ढr ड्ढr हर दिन दो से तीन वीडियो एलबम की शूटिंग होती है। शूटिंग व उसे देखने के लिए उमड़ रही भीड़ ने हार्डिग पार्क को ‘फिल्मसिटी ’ बना डाला है। पार्क का मनोहारी दृश्य और वातावरण ने एलबम निर्माताओं को इस कदर आकर्षित किया है कि अब सुबह से शाम ढलने तक यहां ‘बोलबम’ के गीत ही सुनाई पड़ रहे हैं। पाश्र्व में बजते इन गीतों पर कांवरियों की वेश-भूषा में सजे कालाकारों के थिरकते हाथ-पांव और भावात्मक भक्ित मुद्रा मानों ‘बदलते पटना’ का स्वागत कर रहे हों। दिन हो या रात यहां शराबियों, नशेड़ियों और गजेड़ियों की सजने वाली बारात की जगह अब कांवर के गीतों ने इस ऐतिहासिक पार्क का नजारा ही बदल डाला है।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पटना का फिल्मसिटी बन रहा हार्डिग पार्कं