DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पुरलिया हथियार कांड के सरकारी गवाह की मिली लाश

किऊल/वाराणसी हिन्दुस्तान टीम। पूर्व-मध्य रेलवे के किऊल रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म संख्या एक के किनारे गड्ढे से रविवार को बरामद लाश की शिनाख्त मंगला प्रसाद के रूप में हुई। मंगला प्रसाद फुलपुर थाना क्षेत्र के सगुनहां का निवासी था। वाराणसी स्थित लालबहादुर शास्त्री एयरपोर्ट पर टैक्सी का काम करने वाला मंगला प्रसाद पुरुलिया हथियार कांड में सरकारी गवाह था। परिजनों के अनुसार 48 वर्षीय मंगला प्रसाद अपनी इंडिका कार से शनिवार की सुबह एयरपोर्ट के लिए घर से निकला था। रात तक वह घर नहीं लौटा तो परिजनों ने खोजबीन शुरू की।

उसकी इंडिका गाड़ी बाबतपुर बाजार में खड़ी मिली। बाहर से लॉक गाड़ी के अंदर ही चाबी भी थी। इकलौते बेटे संजय कुमार ने काफी खोजबीन के बाद पुलिस को तहरीर दी थी। रविवार को किऊल में मिली लाश के पास से बरामद मोबाइल और डायरी से उसकी शिनाख्त हुई। इसके बाद घर खबर पहुंची तो कोहराम मच गया। मंगला प्रसाद दसिंबर 1995 में हुए पुरुलिया हथियार कांड में सरकारी गवाह था। पुरुलिया में हथियार गिराने से पहले विमान को बाबतपुर में ही दो दिनों तक खड़ा रखा गया था।

इस दौरान विमान में सवार न्यूजीलैंड निवासी निल्स हॉक उर्फ डेमीमूर को मंगला ने ही अपनी गाड़ी से दो दिनों तक होटल से लाने और ले जाने का काम किया था। डेमीमूर फिलहाल न्यूजीलैंड के जेल में है। उसका प्रत्यर्पण अभी तक नहीं कराया जा सका है। मंगला के परिवार वाले के अनुसार किसी जान पहचान वाले ने ही धोखा देकर उसकी हत्या की है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पुरलिया हथियार कांड के सरकारी गवाह की मिली लाश