DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सपा नेता की हत्या से गांव में तनाव, फोर्स तैनात

दिबियापुर। हिन्दुस्तान संवाद। सपा नेता भोला यादव की हत्या से उनकी पंचायत आशा का पुरवा व क्षेत्र में तनाव है। ऐहतियातन गांव में पुलिस फोर्स तैनात कर दिया गया है। पुलिस अधीक्षक ने स्थानीय पुलिस को मामले में कड़ी कार्रवाई करने का निर्देश दिया है।

उधर, पोस्टमार्टम हाउस से दोपहर में शव गांव वापस आया तो तनाव के बीच माहौल गमजदा हो गया। गांव में ही कड़ी सुरक्षा के बीच अंत्येष्टि कर दी गई। सपा नेता भोला यादव व मामले में नामजद किए गए बसपा नेता व बर्खास्त सिपाही महेंद्र यादव एक ही ग्राम पंचायत आशा का पुरवा के मूल निवासी हैं। दोनों के बीच बताया जाता है कि जमीन, चुनाव और वर्चस्व को लेकर एक दशक से रंजशि चली आ रही थी। दोनों कई बार आमने-सामने भी आए।

बताया जाता है कि पिछले बसपा शासन में कन्नौज जिले के तिर्वा क्षेत्र के गांव मझला से गायब शिक्षक की हत्या के मामले में भोला यादव व उसके गांव के ही एक युवक को नामजद किया गया था। इसके पीछे महेंद्र यादव ही था। हालांकि बाद में ग्रामीणों और समर्थकों की लामबंदी के चलते भोला को इस मामले में पुलिस जांच में क्लीनचिट मिल गई थी। भोला के खिलाफ लूट, जानलेवा हमला आदि के भी कई मामले दर्ज हुए थे।

भोला के परिजन इन मामलों के पीछे भी महेंद्र यादव को ही बताते हैं। परिजनों के अनुसार महेंद्र की पत्नी ने पिछले चुनाव में आशा का पुरवा से प्रधानी का चुनाव भी लड़ा था। इसमें भोला यादव ने महेंद्र का विरोध करते हुए सपा के दबिियापुर विधानसभा क्षेत्र अध्यक्ष कमलेश यादव एडवोकेट की पत्नी गायत्री यादव का समर्थन कि या था। इस चुनाव में गायत्री यादव लगातार दूसरी बार प्रधान निर्वाचित हुईं थीं। इसके अलावा दिबियापुर नगर में एक बस स्टैंड को लेकर भी दोनों के बीच विवाद भी रंजशि की वजह बताई जाती है।

उधर दोपहर बाद भोला यादव की बेहद तनावपूर्ण माहौल में गांव में ही अंत्येष्टि कर दी गई। पुलिस अधिकारियों के अलावा सपा जिलाध्यक्ष शविनाथ सिंह यादव, सपा के दिबियापुर विधानसभा क्षेत्र अध्यक्ष कमलेश यादव आदि प्रमुख रूप से मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सपा नेता की हत्या से गांव में तनाव, फोर्स तैनात