DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गांगुली बोले...पद छोड़ने के बारे में अभी नहीं किया फैसला

गांगुली बोले...पद छोड़ने के बारे में अभी नहीं किया फैसला

कानून की एक इंटर्न द्वारा लगाए गए यौन उत्पीड़न के आरोपों का सामना कर रहे उच्चतम न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश एके गांगुली ने आज कहा कि उन्होंने पश्चिम बंगाल मानवाधिकार आयोग के अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने के बारे में अभी तक फैसला नहीं किया है।
   
हालांकि, उन्होंने पूर्व अटार्नी जनरल सोली सोराबजी के साथ टेलीफोन पर हुयी अपनी बातचीत के बारे में टिप्पणी करने से इंकार कर दिया। सोराबजी ने कल कहा था कि न्यायमूर्ति गांगुली ने उन्हें टेलीफोन किया और कहा कि वह पश्चिम बंगाल मानवाधिकार आयोग (डब्ल्यूबीएचआरसी) के अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने की सोच रहे हैं।
   
न्यायमूर्ति गांगुली ने कहा कि मैंने इसके बारे में अखबारों में पढ़ा है। मैं इस पर कोई टिप्पणी नहीं करना चाहता हूं। यह पूछे जाने पर कि क्या वह इस्तीफा देने पर विचार कर रहे हैं, गांगुली ने कहा, मैंने अभी तक कुछ भी तय नहीं किया है।

न्यायमूर्ति गांगुली की सोराबजी के साथ वार्ता ऐसे समय में हुई है, जब केंद्रीय मंत्रिमंडल द्वारा इस मुद्दे पर यौन उत्पीड़न के आरोपों की जांच के लिए राष्ट्रपति की राय (केंद्र सरकार की तरफ से राष्ट्रपति द्वारा राय के लिए उच्चतम न्यायालय को भेजा जाने वाला मामला) भेजने के प्रस्ताव को मंजूरी दी गयी। इसे डब्ल्यूबीएचआरसी अध्यक्ष को हटाने की दिशा में एक कदम माना जा रहा है।
   
उच्चतम न्यायालय की तीन सदस्यीय समिति ने प्रथमदष्टया न्यायमूर्ति गांगुली को आरोपी माना था। न्यायमूर्ति गांगुली ने कानून की इंटर्न की ओर से लगाए गए सभी आरोपों से इंकार किया था और कहा था कि उनके द्वारा दिए गए कुछ फैसलों के कारण उनकी छवि धूमिल करने के लिए कुछ ताकतें कोशिश कर रही हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गांगुली बोले...पद छोड़ने के बारे में अभी नहीं किया फैसला