DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गर्माए तिल के लड्डू के दाम

नए साल की शुरुआत के साथ अब लोगों के घरों में मकर संक्रांति पर्व को लेकर तैयारियां शुरू हो गई हैं। बाजारों में तिल के लड्डू की आवक होने लगी है, लेकिन निर्माण सामग्री महंगी होने के कारण तिल का लड्डू हो या रामदाना का, सभी के दामों में 20 से 35 प्रतिशत तक की बढ़ोतरी हो गई है।

इन दिनों बाजारों में मकर संक्रांति की रौनक दिखने लगी है। लखनऊ शहर के तमाम बाजार तिल, रामदाना, लक्ष्या, चना आदि के लड्डू से पट गए हैं। यहां के आलमबाग में सालों से दुकान लगा रहे मुकेश गुप्ता बताते हैं कि गत वर्ष की अपेक्षा इस बार मकर संक्रांति पर्व पर सभी खाद्य पदार्थों के दामों में 20 से 35 प्रतिशत तक की बढ़ोतरी हुई है। थोक में तो फिर भी कुछ सस्ता है लेकिन फुटकर खरीद पर वही सामान और भी महंगे हैं।

वह बताते हैं कि तिल के लड्डू जो गत वर्ष 35 रुपये में 200 ग्राम मिलते थे, इस बार इसकी कीमत 45 रुपये में 200 ग्राम हैं। रामदाना के लड्डू जो 65 रुपये प्रतिकिलो थे, इस बार 100  से 120 रुपये प्रतिकिलो हो गए हैं।

वहीं अमीनाबाद के एक दुकानदार का कहना है कि दामों में बढ़ोत्तरी वह अपनी ओर से नहीं कर रहे हैं। उन्हें खुद यह सामान पहले से महंगा पड़ रहा है। वह कहते हैं कि पेट्रोल, डीजल के दामों में जब आए दिन बढ़ाेत्तरी हो रही है तो लाजमी है कि इनके दाम बढ़ ही जाएंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गर्माए तिल के लड्डू के दाम