DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पास तो हो गए पर साल गया बेकार

देहरादून। कार्यालय संवाददाता

इसे व्यवस्था की खामी कहिए या फिर लापरवाही लेकिन स्नातक में पास होने के बाद भी सैकड़ो छात्रों का एक साल बेकार हो गया। गढ़वाल विवि ने इनकी बैक परीक्षा का रिजल्ट इतनी देरी से जारी किया कि अगली कक्षा की सेमेस्टर परीक्षाएं भी निपट गयी। अब ये एक साल बाद ही पीजी में एड़ाशिन ले पाएंगे।

यह गड़बड़ गढ़वाल विवि से संबद्ध सभी कालेजों के छात्रों के साथ हुई है और खुद विवि कैम्पस के छात्र भी इसमें शामिल हैं। स्नातक फाइनल इयर के जो छात्र एकआध विषय में फेल हो गये उन्होंने इस पेपर के लिए बैक परीक्षा का फार्म भर दिया। हर साल की तरह की विवि में इस बार भी इन छात्रों की परीक्षा सितम्बर-अक्टूबर माह में कराई थी। लेकिन इस परीक्षा के तुरंत बाद ही विवि में हड़ताल शुरू हो गयी और सारा कामकाज रुक गया।

इस कारण रिजल्ट जारी नहीं हो सका। दूसरी तरफ पीजी पहले सेमेस्टर की परीक्षाएं शुरू हो गयी। बीते पांच छह दिनों में इनका रिजल्ट जारी किया गया है। रिजल्ट समय पर आता तो इन छात्रों को पास होने के बाद एमए, एमएससी और एमकॉम में एड़ाशिन मिल सकता था, लेकिन अब इस साल इनके लिए सारे रास्ते बंद हो गये हैं। उधर, विवि परीक्षा नियंत्रक प्रो. ओपी गुंसाई का कहना है कि यह इम्प्रूवमेंट परीक्षा थी और इसका रिजल्ट पहले जारी करना संभव नहीं था।

इस परीक्षा के कारण सेमेस्टर नहीं रोका जा सकता और न ही ऐसी कोई बाध्यता होती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पास तो हो गए पर साल गया बेकार