DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पुलिस सतर्क रहती तो नहीं होती हत्या

गोपालपुर संवाद सूत्र/संदीप झा

पुलिस यदि सचेत रहती तो पंकज की हत्या को टाला जा सकता था। दो जनवरी को दिये रामानंद कुमार के आवेदन पर यदि पुलिस यदि पुलिस प्राथमिकी दर्ज कर लेती तो आज नजारा कुछ और होता। हत्या के बाद पुलिस उसी आवेदन के आधार पर प्राथमिकी दर्ज कर रही है। जिसमें पंकज कुमार, पवन कुमार, छविलाल कुमार पर मारपीट का आरोप लगाया गया था। पुलिस के इस रवैये से ग्रामीण नाराज हैं। ग्रामीणों को डर है कि पुलिस की सुस्ती से कहीं सैदपुर एक बार फिर से पुराने रास्ते पर न चल पड़े।

पंकज हत्यारोपी विनय के भाई की हत्या का आरोपी है। पूर्व में इस गांव में बर्चस्व को लेकर लंबी लड़ाई चली है। लेकिन पिछले पांच साल से यहां शांति थी। ग्रामीणों की माने तो पंकज ने भी अब शांति का रास्ता अपना लिया था। लेकिन यह हत्या कर विनय ने अपने भाई की हत्या का बदला तो ले लिया पर इसका परिणाम दूरगामी होने की आशंका है। लोग एक बार फिर से गांव में खूनी खेल के शुरू होने की संभावना मात्र से शहिर उटते हैं।

रामानंद के आवेदन के बाद तीन जनवरी को छविलाल कुमार की पत्नी तसमिरा देवी ने भी थाने में आवेदन दे रामानंद कुमार , मुरारी कुमार, साकेत कुमार, संतोष कुमार, सुभाष कुमार, गौरव ठाकुर पर मारपीट करने का आरोप लगाया था। दोनों पक्षों के आवेदन पर यदि पुलिस ने गंभीरता दिखायी होती तो घटना को टाला जा सकता था। विनय की मां शांति देवी के बयान पर उसके भाई की हत्या की प्रथमिकी में पंकज कुमार सहित दस लोगों को आरोपी बनाया गया था।

मामला गोपालपुर थाने में दर्ज किया गया था। हत्य से गांव में दहशत का माहौल, बंद रहीं दुकानें, नहीं लगे हाटशनिवार को दुर्गा स्थान के पास पंकज की हत्या के बाद दुकानदारों तथा स्थानीय लोगों के बीच दहशत का माहौल है। रविवार को बाजार की दुकानें बंद रहीं। यहां लगने वाला हाट भी नहीं लगा। लोग अपने-अपने घरों में दुबके रहे। थाना प्रभारी को निलंबित करने की मांग : पंकज की हत्या के बाद जनप्रतिनिधियों तथा ग्रामीणों ने थानाध्यक्ष को निलंबित करने की मांग वरीय पदाधिकारियों से की है।

युवा राजद अध्यक्ष प्रवीण कुमार ने कहा कि अगर थानाध्यक्ष को नहीं हटाया गया तो ग्रामीणों के साथ मिलकर राजद आंदोलन करेगी। वहीं, जिला कांग्रेस कमेटी के महासचवि शंकर सिंह अशोक ने कहा कि पुलिस की लापरवाही से यह घटना घटी है। पहले से पुलिस सतर्क रहती तो मामले को टाला जा सकता था।

पत्नी के बयान पर प्राथमिकी दर्ज

 पंकज की हत्या के बाद पत्नी सोनी देवी के बयान पर दो नामजद सहित कई अज्ञात पर रविवार को प्राथमिकी दर्ज की गयी।

थाना प्रभारी जनक किशोरी सिंह ने बताया कि मामला दर्ज कर पुलिस अभियुक्त को गिरफ्तार करने के लिए छापेमारी कर रही है। शीघ्र ही मामले का उद्भेदन कर लिया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पुलिस सतर्क रहती तो नहीं होती हत्या