DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

‘मस्ती की क्लास’ से छूटे थे पोलियो पर ‘गोले’

मुरादाबाद। कार्यालय संवाददाता

आज की तारीख में दुनिया के जिन देशों में भी पोलियो के केस आ रहे हैं वहां के लोगों में किसी हद तक साफ सफाई को लेकर जागरूकता की कमी होने की बात विशेषज्ञों की तरफ से साफ बताई जा रही है। विशेषज्ञों ने यह साफ कर दिया है कि अगर पोलियो का वायरस मौजूद है भी तो वह किसी बच्चों के शरीर में तब तक नहीं प्रवेश कर सकता जब तक कि वह गंदे हाथों से कोई चीज नहीं खा ले।

पोलियो का वायरस सबसे ज्यादा शौच के मल से फैलता है। जिसका सबसे बड़ा कारण किसी इलाके में गंदगी का होना बनती है। यह बात बच्चों को समझाई गई जिसके असर से मुरादाबाद में पोलियो के खतरनाक वायरस को रोकने में मदद मिली। कोर पीसीआई प्रोजेक्ट की तरफ से स्कूली बच्चों को साफ सफाई के बारे में ज्यादा से ज्यादा जागरूक करने का मकसद लेकर ‘मस्ती की कक्षा’ कार्यक्रम चलाया गया। यह कार्यक्रम पिछले चार साल से लगातार चल रहा है।

सरकारी प्राइमरी स्कूलों में जाकर ग्रुप की टीमों ने बच्चों को खेल खेल में सफाई के प्रति जागरूक करने का प्रयास किया। बच्चों को बताया गया कि वह साबुन से अच्छी तरह हाथ धोए बिना कोई भी चीज नहीं खाएं तो पोलियो का वायरस हमारा कुछ भी नहीं बिगाड़ सकेगा। चूंकि, बच्चों के अंदर यह बात समझाने के लिए मनोरंजक तरीकों का इस्तेमाल किया गया इसलिए इसका काफी अच्छा असर बच्चों पर पड़ा। पोलियो पर जीत दिलाने में यह मुहिम भी काफी कारगर बनी।

कोर पीसीआई के कोआर्डिनेटर डा.मोहम्मद जावेद का कहना है कि साफ सफाई के प्रति जागरूकता का वातावरण बनाए रखना जरूरी है क्योंकि पोलियो को फिर कभी नहीं आने देना है। इसीलिए यह मुहिम अभी जारी है। बीमारियों की नजर से ज्यादा संवेदनशील इलाकों में इसका सिलसिला और बढ़ाया जाएगा। तेरह जनवरी को मनेगा पोलियो से मुक्ति का जश्नमुरादाबाद। उस तारीख को यादगार बनाने की तैयारियां जोरशोर से शुरू हो गई हैं जिसमें मुरादाबाद समेत पूरे देश के माथे पर लगा हुआ पोलियो का कलंक मिट जाएगा।

तेरह जनवरी को पोलियो का कोई नहीं मिलने के तीन साल पूरे हो रहे हैं। इस मौके पर स्वास्थ्य विभाग एवं कोर पीसीआई के तत्वावधान में भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। मुख्य चिकित्साधिकारी डॉक्टर संजीव यादव ने बताया कि इस मौके पर विशेष कार्यक्रम आयुक्त सभागार में आयोजित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि कार्यक्रम में पोलियो अभियान में विशेष योगदान देने वाले लोग सम्मानित भी किए जाएंगे। सीएमओ ने कहा कि पोलियो का कलंक मिटना पूरे देश के लिए बड़ी उपलब्धि है, लेकिन इससे उत्साहित होकर हमें दूसरी बीमारियों को भी जड़ से नष्ट करने के लिए पूरी ताकत के साथ जुट जाना है।

यही हमारे लिए इस अभियान का सबसे बड़ा सबक होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:‘मस्ती की क्लास’ से छूटे थे पोलियो पर ‘गोले’