DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एक हफ्ते में 52 किलोमीटर का ‘खूंखार’ सफर

मुरादाबाद। कार्यालय संवाददाता

चंदौसी के जिस मिठनपुर मौजा में टाइगर का पहला हमला हुआ वहां से अब तक वह 52 किलोमीटर का सफर तय कर चुका है। जीपीएस रीडिंग में पहले घटनास्थल से चंगेरी गांव के घटनास्थल पहुंचने के बीच की दूरी की पुष्टि हुई है। अधिकारियों का मानना है कि अगर वह इसी तरह आगे बढ़ता रहा तो या तो वह लोहागढ़ की ओर बढ़ेगा या फिर रैनी जंगल जाएगा। साथ ही टाइगर के व्यवहार को देखकर रामनगर, उधमसिंह नगर जैसे इलाकों का टाइगर होने के संकेत मिले है।

दरअसल इस पूरे क्षेत्र में रहने वाले टाइगर्स को आबादी के नजदीक होने पर भी ज्यादा फर्क नहीं पड़ता। जबकि पीलीभीत के आसपास के टाइगर एकांत में रहना पसंद करते हैं। मुरादाबाद और चंदौसी में आतंक का पयार्य बने टाइगर को भी आबादी के नजदीक ही पाया गया है। इसी वजह से अधिकारी टाइगर को इसी इलाके का होने की संभावना जता रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एक हफ्ते में 52 किलोमीटर का ‘खूंखार’ सफर