DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जीएसएलवी-डी5 से अंतरिक्ष में ऊंची उडा़न

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान (इसरो) ने रविवार शाम 4 बजकर 18 मिनट पर जीएसएलवी डी5 लांच करके अंतरिक्ष कार्यक्रम में बड़ी उपलब्धि हासिल की। श्रीहरिकोटा में सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से इसका सफल प्रक्षेपण किया गया। इसमें स्वदेशी क्रायोजेनिक इंजन का इस्तेमाल किया गया है।

छठा देश बना: भारत क्रायोजेनिक तकनीक इस्तेमाल करने वाले छह देशों के क्लब में शामिल हो गया है।
बड़ी उपलब्धि: यह कामयाबी इसलिए भी अहम है क्योंकि पिछले 20 साल में किसी भी देश ने क्रायोजेनिक तकनीक विकसित नहीं की है। इसरो चेयरमैन के राधाकृष्णन ने इसे अंतरिक्ष कार्यक्रम में बड़ी उपलब्धि बताया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जीएसएलवी-डी5 से अंतरिक्ष में ऊंची उडा़न