DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आप की चुनौती का सामना करेंगे राजनीतिक गठबंधन

आप की चुनौती का सामना करेंगे राजनीतिक गठबंधन

आगामी लोकसभा चुनाव और महाराष्ट्र के विधानसभा चुनाव की तैयारियों में लगे कांग्रेस-राकांपा गठबंधन और भाजपा-शिवसेना को इस बार आम आदमी पार्टी के रूप में नए विरोधी का सामना करना पड़ेगा, क्योंकि पार्टी ने बड़े स्तर पर राज्य में चुनावों में उतरने की तैयारी कर ली है।

दिल्ली में पहली बार चुनावी मैदान में उतरे अरविन्द केजरीवाल की पार्टी अपने शानदार प्रदर्शन के बाद सरकार का गठन कर चुकी है। पार्टी ने महाराष्ट्र के सभी 35 जिलों में अपनी इकाइयां स्थापित कर ली हैं और तालुक स्तर तथा इससे इतर अपनी पकड़ बनाने की कोशिश कर रही है।

अन्ना हजारे के इंडिया अगेंस्ट करप्शन के स्वंयसेवकों के साथ पार्टी ने राज्य में अपना महत्वपूर्ण आधार बना लिया है। टीम केजरीवाल के महत्वपूर्ण सदस्य आप नेता मयंक गांधी ने कहा कि हमने राज्य के सभी 35 जिलों में संरचित समितियां स्थापित की हैं। कुछ तालुकों में भी हम आधार बना रहे हैं और मतदान केंद्र स्तर पर समितियों के गठन के लिए काम कर रहे हैं।

सोशल मीडिया के जरिए जमकर प्रचार कर युवाओं को आकर्षित करने वाली पार्टी पहले ही चुनाव प्रबंधन के लिए 14 राज्य स्तरीय समितियों का गठन कर चुकी है। हालांकि पार्टी ने राज्य में लोकसभा चुनावों के लिए अपने उम्मीदवारों की संख्या तय नहीं की है।

राज्य की लोकसभा सीटों की संख्या (48), उत्तर प्रदेश (80) के बाद देश में सर्वाधिक है। नेतृत्व के मुद्दे से जुड़े सवाल के जवाब में गांधी ने कहा कि आप में एक सामूहिक नेतृत्व है और अंजलि दमनिया राज्य की समन्वयक होंगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आप की चुनौती का सामना करेंगे राजनीतिक गठबंधन