DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

महंगे ईंधन का असर होगा हवाई यात्रा पर

एविएशन टर्बाइन फ्यूल (एटीफ) यानी विमान ईंधन की कीमतों में पहली जुलाई से फिर इजाफे की घोषणा होने की संभावना के मद्देनजर हवाई किराया और बढ़ने की आशंका है। हालांकि एयरलाइनों ने किराया बढ़ाने पर अभी कोई फैसला नहीं किया है लेकिन एटीएफ की कीमतों में होने वाली वृद्धि के असर का आकलन करने के बाद किराया वृद्धि की संभावना से इंकार भी नहीं किया है। ईंधन पर होने वाले खर्च में बेतहाशा वृद्धि के कारण पहले ही एयरलाइनों की कमर टूट चुकी है। सरकार ने कुछ राहत देने के लिए एटीएफ पर सीमा शुल्क में कटौती की भी घोषणा की । जिसके बाद एटीएफ के दामों में इस महीने के प्रारंभ में प्रति किलोलीटर 3000 रुपये की कमी आई थी लेकिन पहली जुलाई से फिर विमान ईंधन के दामों में प्रति किलो लीटर 2500 से 3000 रुपये की वृद्धि किए जाने की आशंका है। निश्चय ही घाटे में चल रही एयरलाइनें यह बोझ खुद उठाने की क्षमता नहीं रखतीं लिहाजा बोझ यात्रियों पर पड़ेगा। जेट एयरवेज की प्रवक्ता ने बताया कि एयरलाइन ने किराया वृद्धि का अभी कोई फैसला नहीं किया है लेकिन घोषणा के बाद होने वाले असर का आकलन किया जाएगा और तब कोई फैसला किया जाएगा। कमोबेश सभी एयरलाइनों का अभी यही रुख है लेकिन विशेषज्ञों का मत है कि हवाई किराया और बढ़ेगा। अंतरराष्ट्रीय बाजार में तेल की कीमत प्रति बैरल 121 डालर से बढ़ कर 142 डालर प्रति बैरल हो गई है। इस तरह एक महीने में ही तेल की कीमत में 15 फीसदी का इजाफा हो गया । तेल विरतर कंपनियां और घाटा उठाने की स्थिति में नहीं है। इसीलिए पहली जुलाई को एटीएफ की नई कीमतों की घोषणा की जाएगी। विमान परिचालन में एयरलाइनों को ईंधन पर ही 45 फीसदी राशि खर्च करनी पड़ती है। इस कारण देश ंमें एक भी एयरलाइन नहीं है जो घाटे में नहीं चल रही। इस समय घरेलू एयरलाइनों के लिए दिल्ली में एटीएफ के दाम प्रति कलो लीटर 66 हजार 226 रुपये 66 पैसे हैं जबकि मुंबई में प्रति किलो लीटर दाम 68 हजार 626 रुपये 8पैसे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: महंगे ईंधन का असर होगा हवाई यात्रा पर