DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ग्रामीणों ने घेरा एसई दफ्तर, नारेबाजी प्रदर्शन

हाथरस। बिजली विभाग की मनमानी के कारण गांव सीर के लोगों में बेहद आक्रोश है। दो महीने से गांव का ट्रांसफार्मर फुंका हुआ पड़ा है। मगर बिजली विभाग ग्रामीणों की समस्या को सुनने तक को तैयार नहीं है। इसलिए शनिवार की सुबह गांव के काफी लोग ट्रैक्टर-ट्राली लेकर ओढपुरा अधीक्षण अभियंता कार्यालय पर आ गए और बिजली विभाग के खिलाफ खूब नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया।

सीर गांव के लोग दो महीने से अंधेरे में है। गांव के लोग क्षमता वृद्धि भी करा चुके हैं, फिर भी ट्रांसफार्मर नहीं बदला गया है, लेकिन बिजली विभाग अपनी मनमानी पर कायम है। इससे ग्रामीणों में भारी आक्रोश है। उपभोक्ताओं का कहना है कि दशकों से उनके गांव सीर में 63 केवीए का ट्रांसफार्मर लगा हुआ था। जबकि गांव में 118 कनेक्शन हैं। इससे ट्रांसफार्मर ओवरलोडिंग के कारण आए दिन फुंक जाता है। दो महीने से ट्रांसफार्मर फुंका हुआ पड़ा है।

ग्रामीणों का कहना है कि वह जेई से लेकर एसई तक को अवगत करा चुके हैं। उसके बाद भी गांव की समस्या का समाधान नहीं हो सका है। ग्रामीणों का कहना है कि वह अधीक्षण अभियंता से मिले तो उन्होंने एसक्इर्एन के लिए पत्र लिख दिया। एक्सईएन को निर्देश दिए कि वह गांव का सर्वे कराए। ताकि यह स्पष्ट हो सके कि गांव में कितना लोड है। अगर सौ केवीए से भी ज्यादा का लोड है तो वह अलग-अलग ट्रांसफार्मर लगवाए।

ताकि लोगों को ठीक से बिजली मिल सके, फिर भी अभी तक इस समस्या का समाधान नहीं हो सका है, फिर भी एक्सईएन की कानों पर जू तक नहीं रेग रही है। ग्रामीणों का कहना है कि बिजली न होने के कारण बच्चों पढ़ाई नहीं कर पा रहे है। मार्च में बच्चों के बोर्ड के पेपर है। ग्रामीणों की मांग है कि जब तक स्थाई व्यवस्था नहीं हो रही है। तब तक उन्हें वैकल्पिक तौर पर बिजली दे दी जाए।

ताकि वह अपना काम चला रहे है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ग्रामीणों ने घेरा एसई दफ्तर, नारेबाजी प्रदर्शन