DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तहसील का दर्जा फिर भी नहीं मिल रही बिजली

टांडा। हिन्दुस्तान संवाद

टांडा को तहसील का दर्जा भले ही हासिल हो गया पर अपर्याप्त विद्युत आपूर्ति के चलते नगरवासी ग्रामीणों जैसी जिन्दगी जीने को मजबूर हैं। इतना ही नहीं उद्योग धंधे भी बंद होने की कगार पर हैं, वहीं आम जन जीवन पर भी प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है। सम्बन्धित विभाग के अधिकारियों की लापरवाही के प्रति लोगों में रोष व्याप्त है। टांडा ओद्योगिक नगर के नाम से प्रसिद्ध है यहां 32 राईस मिल, कोल्ड स्टोर, व्हील्स इण्डिया सहित सैकड़ो छोटे मोटे कल कारखाने हैं लेकिन बिजली की हालत यह है कि मुश्किल से तीन चार घण्टे ही मिल पर रही है, जिसके कारण उद्यौग धंधे बंद होने के कगार पर हैं।

हालांकि नगर से करोड़ाे रुपया सालाना का रविन्यु शासन को दिया जाता है लेकिन इसके बावजूद विभागीय अधिकारी नगर की ओर से पूरी तरंह उदासीनता बरत रहे है। बताते हैं कि तहसील की स्थापना के बाद नगर को शासन स्तर से चौदह घण्टे विद्युत आपूर्ति मिलने के आदेश होते हैं, लेकिन अधिकारियों की मनमानी के चलते नगर को मात्र चार से पांच घण्टे ही विद्युत आपूर्ति मिल पा रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:तहसील का दर्जा फिर भी नहीं मिल रही बिजली