DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सांसद से आश्वासन मिला पर संकट टला नहीं

फिरोजाबाद,हिन्दुस्तान संवाद। टीटीजोन में रियायती दर की एपीएम गैस कोटा में कटौती की मार से सहमे उद्यमी अब बचाव के उपाय खोजने में जुट गए हैं। उद्यमी यह अच्छी तरह जान रहे हैं कि सांसद राज बब्बर ने उन्हें समस्या हल कराने का आश्वासन भले ही दे दिया लेकिन संकट अभी टला नहीं है।

गेल का एपीएम गैस कट अपनी जगह कायम है। गेल द्वारा ताजट्रिपेजियम जोन को पहले से आवंटित रियायती दर के 11 लाख घनमीटर एपीएम गैस कोटा में करीब 15 फीसदी तक कटौती किए जाने के फरमान से कांच नगरी के उद्यमियों की धड़कनें बढ़ी हुईं हैं। सांसद राज बब्बर के दरबार में पहुंचे उद्यमियों को समस्या समाधान की दिशा में पहल किए जाने का आश्वासन जरूर मिला है। वहीं गैस कम्पनी के अधिकारियों ने एपीएम कोटा में गैस कटौती के मामले में गेंद पेट्रोलियम मिनिस्ट्री के पाले में डाल दी है।

अब गैस कट के आदेश को वापस लेना ओर न लेना मिनिस्ट्री पर निर्भर है लेकिन उद्यमी जान रहे हैं कि मिनिस्ट्री से गैस कटौती का आदेश बदलवा लेना आसान काम नहीं है। इसके लिए उन्हें तरह तरह के पापड़ बेलने पड़ेंगे। वहीं सांसद की पहल कितनी कारगर सिद्ध होगी। यह तो आने वाला समय ही बताएगा। दिल्ली से लौटने के बाद शनिवार को उद्यमी आपस में एक दूसरे से विचार विमर्श करने में जुटे रहे। ।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सांसद से आश्वासन मिला पर संकट टला नहीं