DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

छत का पानी सड़क पर चला तो खैर नहीं

अवागढ़। हिन्दुस्तान संवाद

सावधान ! कहीं आपकी छत पर लगे पनारा सड़क पर तो नहीं गिर रहा है। कहीं आप खुले में कूड़ा तो नहीं डाल रहे हैं। आपने मार्गो पर अतिक्रमण तो नहीं कर रहा है। यदि ऐसा है तो सुधर जाएं। क्योंकि नगर पंचायत अधशिाषी अधिकारी उज्जवल कुमार आईएएस ने ऐंसा करने वालों को सबक सिखाने का मन बनाया है।

जिसके लिए उन्होंने कई फरमान भी जारी किये है। नगर पचांयत ईओ ने नगरवासियों को आगाह किया है कि निरीक्षण के दौरान छतों के पानी की निकासी सीधे सड़क अथवा गली में होने से आने-जाने वालों को परेशानी होने कार्रवाई की जायेगी। साथ ही सरकारी संपति क्षतिग्रस्त होती है। सरकारी संपति जनता की है। जिसकी सुरक्षा करना सभी का दायित्व है। उन्होंने लोगों से कहा है कि वह मकान, दुकान की छतों का पानी छत से नाली तक पाइप लगाकर निकाले।

ताकि सड़क, गलियां क्षतिग्रस्त न हो। उन्होंने चेतावनी दी है कि यदि जानकारी होने के बाद भी ऐंसा हुआ तो संबंधित व्यक्ति के विरुद्ध कार्रवाई की जायेगी। ईओ ने नगर क्षेत्र में जर्जर तारों को ठीक कराये जाने के लिए सब स्टेशन अवागढ़ के जूनियर इंजीनियर को नोटिस दिया है। जिसमें उन्हें अवगत कराया है कि नगर में पोल पर डाली गई विद्युत केबिल काफी नीचे तक लटक रही है। जिसकी वजह से कभी भी दुर्घटना होने की संभावना बनी रहती है।

जनता के हित को देखते हुए इन्हें तत्काल ठीक कराया जाये। उन्होंने नगरवासियों से कहा है कि लोग निर्धारित स्थान पर ही कूड़ा डाले। जिससे नगर के साफ-सुथरा बनाया जा सके। मार्गो, बाजारों में अतिक्रमण न करे। अतिक्रमण से मार्ग संकरे होने पर लोगों को आवागमन में परेशानी होती है और हादसों की संभावना बनी रहती है। उन्होंने अतिक्रमणकारियों को चेतावनी दी कि वह स्वयं अतिक्रमण हटा ले। यदि नगर पंचायत द्वारा चलाये गये अभियान के दौरान अतिक्रमण हटाये जाने का हर्जाना उनसे वसूला जायेगा।

ं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:छत का पानी सड़क पर चला तो खैर नहीं