DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उत्तर भारत में ठंड से कोई राहत नहीं

उत्तर भारत में ठंड से कोई राहत नहीं

उत्तर भारत में शीतलहर से कोई राहत नहीं है क्योंकि पारा क्षेत्र के अधिकतर हिस्सों में सामान्य से नीचे बना हुआ है जबकि हरियाणा के अंबाला शहर में ठंड की चपेट में आने से दो व्यक्तियों की मौत हो गई। क्षेत्र के अधिकतर हिस्सों में गहरे कोहरे से सामान्य जनजीवन को प्रभावित किया तथा इससे हवाई, रेल और सड़क यातायात प्रभावित हुआ।
     
कोहरे के चलते कम दश्यता से रेल यातायात प्रभावित हुआ बिहार, बंगाल, असम, ओड़िशा आर अन्य राज्यों से दिल्ली आने वाली 16 ट्रेनें और तय समय से कई घंटे विलंब से चल रही हैं। दिल्ली के लोग आज सुबह जब अपनी रजाइयों से निकलकर सिमटे सकुचाए से बाहर निकले तो चारों तरफ फैली धुंध की क्षीनी चादर ने उनका स्वागत किया। न्यूनतम तापमान 6.4 था, जो भरे जाड़े के इस मौसम के हिसाब से एक डिग्री कम था।

मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक दोपहर में आसमान कुछ खुल गया और गुनगुनी सी धूम निकल आई जबकि शाम में बादल छाए रहने की संभावना है। अधिकतम और न्यूनतम तापमान क्रमश: 20 डिग्री सेल्सियस और 6 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है।
 पिछले 24 घंटे के दौरान अधिकतम तापमान 19.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो इस मौसम के सामान्य तापमान से एक डिग्री कम था।

कोहरे से दृश्यता में आई कमी के कारण बिहार, बंगाल, असम, उड़ीसा एवं अन्य राज्यों से आने वाली 16 रेलगाड़ियां अपने निर्धारित समय से कई घंटा विलम्ब से चल रही हैं। कोहरे से रेलवे का सामान्य परिचालन प्रभावित हुआ है।

उत्तर रेलवे के अधिकारी ने बताया कि ब्रहमपुत्र मेल 12 घंटे विलम्ब से चल रही है। जनसाधारण एक्सप्रेस एवं मगध एक्सप्रेस क्रमश: पांच और चार घंटे देरी से चल रही हैं। उन्होंने बताया कि कोहरे की वजह से महानंदा एक्सप्रेस एवं नार्थ ईस्ट एक्सप्रेस की रवानगी का समय बदल कर पुन: निर्धारित किया गया है।

अधिकारी ने बताया कि रेलवे ने कोहरे की संभावना के कारण करीब 10 ट्रेनों को आगामी 16 जनवरी तक स्थगित कर दिया है। रेलवे ने इंजन चालकों को कोहरे की स्थिति में रेलगाड़ियों की गति धीमी रखने के निर्देश दिये हैं। उत्तराखण्ड में हिमपात का असर उत्तर प्रदेश के मैदानी इलाकों में गलन भरी सर्दी के रूप में पड़ रहा है और राज्य के अनेक इलाकों में शीतलहर जारी है। प्रदेश के ज्यादातर हिस्सों में बर्फीली हवा चलने और कुछ जगहों पर बारिश होने से ठंड और बढ़ गई है। राजधानी लखनउ में दिन में खिली धूप निकलने के बाद शाम ढलते बदली छा गयी और बर्फीली हवा के साथ बूंदाबांदी हुई।

मौसम विभाग के सूत्रों के मुताबिक पिछले 24 घंटे के दौरान राज्य के वाराणसी और इलाहाबाद मंडलों में रात के तापमान में खासी गिरावट दर्ज की गई है। इसके अलावा लखनऊ, गोरखपुर, वाराणसी तथा फैजाबाद में भी न्यूनतम तापमान सामान्य से काफी कम रहा। इस अवधि में मुजफ्फरनगर 3.8 डिग्री सेल्सियस न्यूनतम तापमान के साथ राज्य का सबसे ठंडा स्थान रहा। अगले 24 घंटे के दौरान राज्य में कुछ स्थानों पर बारिश होने अथवा कोहरा गिरने का अनुमान है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:उत्तर भारत में ठंड से कोई राहत नहीं