DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अरुप के सवाल पर जयराम ने कहा-बकवास है समन्वय समिति

रांची। हिन्दुस्तान ब्यूरोः समन्वय समिति की बैठक में विशेष आमंत्रित सदस्यों का मामला उठा। मासस विधायक अरुप चटर्जी ने पूछा कि विशेष आमंत्रित सदस्य क्या होता है। विशेष आमंत्रित सदस्य क्यों? या तो पूरा रखें या फिर समिति से नहीं रखें। इस पर जयराम ने कहा कि समन्वय समिति बकवास है। इंवाइटी मेंबर का मतलब समझ ने नहीं आ रहा।

रमेश ने कहा कि सभी सहयोगी दल के सदस्य समिति के मेंबर होंगे। चाहे वह निर्दलीय हों या दलों के। चंद्रशेखर और योगेंद्र साव के बयान पर उठे सवालराजद और मासस विधायक ने चंद्रशेखर दूबे और योगेंद्र साव द्वारा दिए गए बयानों पर भी सवाल उठाया। बैठक में शामिल सदस्यों ने कहा : मंत्रियों को सीख लेने की जरूरत है कि कैसे मंत्रिमंडल चलाया जाता है। जयराम रमेश ने भी दूबे और साव के बयानों को गंभीरता से लिया। जनार्दन पासवान ने कहा कि परिपक्व मंत्री की तरह बयान आना चाहिए।

संयमित भाषा का प्रयोग होना चाहिए। अरुप ने बैठक में कहा कि कोई मंत्री कहता है कि मंत्री बनने के लिए जूता सीने से लेकर चंडी पाठ करना पड़ता है तो कोई कहता है कि विधायकों के दबाव में तबादला किया गया। इसका खुलासा होना चाहिए। सभी मंत्रियों को इस मुद्दे पर बुलाया जाए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अरुप के सवाल पर जयराम ने कहा-बकवास है समन्वय समिति