DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मेडिकल छात्रों ने प्राचार्य को घेरा, आंदोलन की चेतावनी

कार्यालय संवाददाता पटना। पटना मेडिकल कॉलेज के मेडिसिन विभाग के द्वितीय पेपर की परीक्षा दोबारा कराने के लिए एमबीबीएस के छात्र-छात्राओं ने शनिवार को प्राचार्य का घेराव किया। परीक्षा न होने की स्थिति में आंदोलन की चेतावनी दी। बाद में प्राचार्य ने विभागाध्यक्षों की आपातकालीन बैठक बुलाई और उनकी राय जानी। सभी विभागाध्यक्षों ने दोबारा परीक्षा कराने पर सहमति जताई।

प्राचार्य भी उनकी बातों से सहमत हुए और सोमवार को आर्यभट्ट ज्ञान विश्वविद्यालय के कुलपति से मुलाकात करने का निर्णय लिया। 228 विद्यार्थियों ने किया था बहिष्कारपिछले माह एमबीबीएस के मेडिसिन विभाग के द्वितीय पेपर में कुछ प्रश्नों को सिलेबस से बाहर होने की बात कहकर पीएमसीएच और एनएमसीएच के 228 छात्र-छात्राओं ने परीक्षा का बहिष्कार कर दिया था। तब से विद्यार्थी दोबारा परीक्षा करने की मांग कर रहे हैं। हाल ही में छात्र प्रति कुलपति से मिले। उन्होंने एमसीआई गाइडलाइन में दोबारा परीक्षा नहीं कराने का हवाला देते हुए उनकी मांग ठुकरा दी।

इससे पीएमसीएच के छात्र गुस्से में थे। शनिवार को वे प्राचार्य कक्ष पहुंचे और परीक्षा कराने की मांग करने लगे। मामले गंभीर, इसलिए समाधान जरूरीपीएमसीएच के प्राचार्य डॉ. एनपी यादव ने बताया कि सभी विभागाध्यक्ष भी दोबारा परीक्षा कराने के समर्थन में हैं, इसीलिए कुलपति से मुलाकात कर समस्या के समाधान करने का निर्णय लिया जाएगा। एमसीआई की गाइडलाइन में मुख्य परीक्षा को दोबारा नहीं कराने का निर्देश दिया गया है। मामला गंभीर है इसीलिए इसका समाधान जरूरी है। इधर, आईएमए के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. राजीव रंजन प्रसाद का कहना है कि छात्रों की मांग जायज है तथा इस पर विश्वविद्यालय प्रशासन को गंभीरता से विचार करना चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मेडिकल छात्रों ने प्राचार्य को घेरा, आंदोलन की चेतावनी