DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

करोड़ों की अवैध निकासी पर अब नितिन पर प्रोडक्शन

मुजफ्फरपुर। हिन्दुस्तान प्रतिनिधि। एसबीआई की गोबरसही स्थित कृषि विकास शाखा के खाते से 29. 25 करोड़ रुपये के अवैध स्थानांतरण मामले में रांची जेल में बंद चौथे अभियुक्त नितिन राज वर्मा मुजफ्फरपुर के सीबीआई कोर्ट में पेश किए जायेंगे।

मुजफ्फरपुर सीबीआई कोर्ट ने रांची के बिरसा मुंडा केंद्रीय कारा के अधीक्षक को प्रोडक्शन वारंट भेजने का निर्देश दिया है। इससे पूर्व 21 दसिंबर को सीबीआई कोर्ट ने बिरसा मुंडा केंद्रीय कारा में बंद मुजफ्फरपुर के बालूघाट दीपनगर निवासी विकास कुमार उर्फ राजा, चंदवारा के मोनीज परवेज व कुढ़नी थाना क्षेत्र के तुर्की चढ़आ निवासी संजय राय की पेशी के लिए प्रोडक्शन वारंट भेजने का निर्देश दिया था। इन तीनों की पेशी के लिए शनिवार की तिथि मुकर्रर थी। लेकिन तीनों अभियुक्त कोर्ट में पेश नहीं हो सके।

इस बाबत सीबीआई कोर्ट ने कारा अधीक्षक को स्मार पत्र भेजते हुए उक्त तीनों के अलावा छपरा के बीएसएनएल क्वार्टर निवासी नितिन राज वर्मा की पेशी के लिए 17 जनवरी की तिथि मुकर्रर किया है। उक्त चारों आरोपितों के अलावा मुजफ्फरपुर के तुर्की चढुआ के देवेंद्र राय व मनीष कुमार, रांची के बोली रोड जयप्रकाश नगर निवासी पवन कुमार सिंह, झीरी कामडे निवासी उमेश साहू व सारण के सोनपुर पहलेजा निवासी विनय यादव के खिलाफ साक्ष्य जुटाने के बाद कोर्ट में सीबीआई आरोप पत्र दाखिल कर चुकी है।

पूर्व में यह केस पटना के सीबीआई कोर्ट में चल रहा था। बाद में उसे यहां स्थानांतरित कर दिया गया। क्या है मामला : शहर के गोबरसही स्थित भारतीय स्टेट बैंक की कृषि विकास शाखा से 29.25 करोड़ रुपये की अवैध निकासी के मामले में बैंक के रीजनल मैनेजर प्रभात कुमार मिश्रा के आवेदन पर सीबीआई के नई दिल्ली थाने में अज्ञात के खिलाफ एफआईआर दर्ज करायी गयी थी। बैंक के कम्प्यूटर को हैक करके बीसीसीएल की धनबाद शाखा के एक खाता से दो किस्तों में पीएनबी के मोदीनगर ब्रांच के खाताधारी एक संस्था के खाते रुपये स्थानांतरित किया गया था।

जालसाजी की यह वारदात नवंबर 2011 की है। दो जनवरी 2012 को कांड दर्ज होने के बाद 23 महीने की जांच के बाद 19 नवंबर 2013 को चार्जशीट दाखिल कर दिया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: करोड़ों की अवैध निकासी पर अब नितिन पर प्रोडक्शन