DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एशियाई एलएनजी खरीदार एकजुट हों: मनमोहन

एशियाई एलएनजी खरीदार एकजुट हों: मनमोहन

विश्व बाजार में प्राकृतिक गैस के लगातार बढ़ते दाम को चुनौती बताते हुये प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने शनिवार को एलएनजी के उचित दाम की मांग को लेकर प्रमुख एशियाई खरीदारों से एकजुट होने का आह्वान किया। प्रधानमंत्री ने कहा कि हाल के समय में दुनिया में एलएनजी की मांग में एशियाई देशों की ही अग्रणी भूमिका रही है। महाद्वीप के देशों में गैस मांग की पूर्ति विदेशों से आयात के जरिये की जाती है।

मनमोहन सिंह ने पुतीवाइपे में 4,500 करोड़ रुपये की लागत से तैयार पेट्रोनेट एलएनजी टर्मिनल को राष्ट्र को समर्पित करते हुए कहा कि हाल के समय में एशियाई देशों में एलएनजी की मांग तेजी से बढ़ी है। ऐसे में यह जरूरी हो जाता है कि एशिया के प्रमुख एलएनजी खरीदार एकजुट होकर विदेशों से आयातित गैस के दाम की उचित मूल्य प्रणाली बनाने की मांग करें।

प्रधानमंत्री ने उम्मीद जताई कि भविष्य में इस तरह के किसी भी प्रयास में भारत सहयोग करेगा। उन्होंने कहा कि हमारे देश में विश्व के ज्ञात प्राकृतिक गैस भंडार का एक फीसदी से भी कम है। ऐसे में प्राकृतिक गैस की आपूर्ति बढ़ाने के लिए हमें आवश्यक रूप से गैस आयात के लिये एलएनजी टर्मिनल बनाने होंगे या फिर एक दूसरे देश से गुजरने वाली पाइपलाइनों के जरिये गैस आपूर्ति व्यवस्था करनी होगी।

सिंह ने कहा कि प्राकृतिक गैस का आयात और आयातित गैस की कीमत को चुनौती बताते हुये उन्होंने कहा समय के साथ इससे निपटना होगा। प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा कि इस टर्मिनल का इस्तेमाल पूरी क्षमता पर होना चाहिए। उन्होंने संबंधित एजेंसियों से कहा कि वे इसे सुनिश्चित करने के लिए हरसंभव प्रयास करें।

पेट्रोनेट एलएनजी ने पहले ही ऑस्ट्रेलिया की गॉर्गन परियोजना से 20 साल की अवधि को कोच्चि टर्मिनल के लिए 14.4 लख टन एलएनजी की सालाना आपूर्ति के  लिए करार किया है। प्रधानमंत्री ने कहा कि कंपनी की और दीर्घावधि करारों के लिए  कुछ अन्य कंपनियों से बातचीत चल रही है।

सिंह ने कहा कि इस परियोजना में हुए निवेश का पूरा इस्तेमाल करने के लिए केरल में भी उत्तरी व पश्चिमी भाग की तरह पाइपलाइन नेटवर्क के विस्तार के जरिये प्राकृतिक गैस की पहुंच बढ़ाई जानी चाहिए। यह भी देखने की जरूरत है कि औद्योगिक इकाइयां किस तरह से प्राकृतिक गैस का इस्तेमाल करती हैं।

सिंह ने राज्य सरकार व पेट्रोलियम मंत्रालय से कहा कि वे राज्य में शहरी गैस वितरण नेटवर्क बनाने पर ध्यान दें जिससे गैस ज्यादा से ज्यादा परिवारों तक पहुंच सके। उन्होंने केरल के मुख्यमंत्री ओमान चांडी व पेट्रोलियम मंत्री एम वीरप्पा मोइली से कहा कि वे बिजली मंत्रालय सहित सभी अंशधारकों के साथ समन्वय के जरिये कोच्चि टर्मिनल की पूरी क्षमता का लाभ उठाएं। उन्होंने कहा कि मुझे पूरा विश्वास है कि आने वाले वर्षों में यह टर्मिनल आपके राज्य को काफी फायदा पहुंचाएगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि एलएनजी टर्मिनल से गैस आपूर्ति बढ़ने से राज्य में स्वच्छ ऊर्जा को बढ़ावा मिलेगा और कार्बन उर्त्सजन कम होगा। इससे केरल के पर्यावरण को सुरक्षित रखने में भी काफी मदद मिलेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एशियाई एलएनजी खरीदार एकजुट हों: मनमोहन